मैंने जाति देखकर कोई योजना नहीं बनाई, किसी के साथ अन्याय नहीं होने दूंगा : मुख्यमंत्री

आगर मालवा| एससी-एसटी एक्ट को लेकर प्रदेश भर में बीजेपी नेताओं को सवर्णों के विरोध का सामना कर रहा है, इस विरोध ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भी चिंता में डाल दिया है| सीएम ने कहा प्रदेश सरकार ने किसी में कोई भेद नहीं किया है। मैंने जाति देखकर कोई योजना नहीं बनाई। सबका कल्याण ही मेरे जीवन का उद्देश्य है। लाडली लक्ष्मी, मेधावी विद्यार्थी, संबल योजना इसका जीवंत उदाहरण है| उन्होंने कहा प्रदेश में अत्याचार किसी के साथ नहीं होने दूंगा। प्रदेश में सद्भावना बनाकर रखें। आगर मालवा में 3448 करोड़ रुपये की लागत से बने कुंडालिया डेम का लोकार्पण कार्यक्रम में पहुंचे सीएम शिवराज ने यह बात कही| इस मौके पर आयोजित समारोह में उन्होंने बांध का नाम अटल सागर बांध करने की घोषणा की|

मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा मध्य प्रदेश को पीछे नहीं रहने देंगे, इसे देश ही नहीं, बल्कि विश्व का सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाएंगे। इसके लिए हम किसानों की आय बढ़ाने पर काम कर रहे हैं और भरपूर पानी की व्यवस्था की जा रही है| सूखे कंठों और खेतों को पानी देने के लिए हम संकल्पित हैं। कुछ ही दिनों में हमने 1200 गांवों में पेयजल दे दिया। मध्यप्रदेश की सिंचाई क्षमता को भी 80 लाख हेक्टेयर तक बढ़ाना है, कुंडलिया बांध की लागत 4000 करोड़ रुपए है और इससे 3.25 लाख एकड़ में सिंचाई हो सकेगी। इससे 1000 से अधिक गांवों और दो शहरों के नागरिकों को पीने का पानी मिलेगा| मुख्यमंत्री ने कहा शिक्षकों की भर्ती की जाएगी और पुलिस सहित अन्य विभागों में भी भर्ती की जाएगी, जिसमें बेटियों के लिए 33 से 50 प्रतिशत तक आरक्षण दिया जाएगा|

नलखेड़ा से 13 किमी दूर गाेठड़ा के पास 3448 करोड़ से बने डेम का बुधवार को सीएम शिवराज सिंह चौहान ने लोकार्पण किया। आगर-मालवा और राजगढ़ जिले की सीमा पर बनाए गए इस कुंडालिया डेम का नाम मुख्यमंत्री ने अटल सागर बांध करने की घोषणा कर दी है। उन्होंने कहा स्थानीय स्तर से आए सुझाव पर इस परियोजना को नया नाम दिया है।