महिला कलेक्टर पर अभद्र टिप्पणी को लेकर चौतरफा घिरे भाजपा सांसद केपी यादव

अशोकनगर। दो दिन पहले एक प्रदर्शन कार्यक्रम के दौरान पत्रकारों से बात करते हुए भारतीय जनता पार्टी के सांसद डॉ. के पी यादव ने जिले की महिला कलेक्टर डॉ. मंजू शर्मा को लेकर अभद्र टिप्पणी कर दी थी। इस टिपणी के बाद सांसद श्री यादव चौतरफा घिर  है। उनके बयान की निंदा हो रही है। सांसद  श्री यादव द्वारा महिला कलेक्टर को पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के चरण चुंबन वाली करने वाली अधिकारी कह दिया था।

    इस बयान के बाद मध्य प्रदेश सरकार के श्रममंत्री एवं अशोकनगर जिले की प्रभारी मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया का बयान आया है। प्रभारी मंत्री ने सांसद के बयान की  निंदा की है। उन्होंने कहा है कि जिसके जैसे संस्कार होते है उसी तरह की बात करता है ।शायद सांसद के संस्कार इसी तरह के रहे होगे जो एक महिला कलेक्टर के खिलाफ इतनी अभद्र बात कर रहे है।  श्री सिसौदिया ने कहा कि   ज्योतिरादित्य सिंधिया और भाजपा सांसद केपी यादव में संस्कारों का यही अंतर  है।

    इसी मुद्दे को लेकर अशोकनगर विधायक जजपाल सिंह जज्जी ने भी सांसद के पी यादव के खिलाफ बयान जारी किया है। उनका कहना है कि सांसद का आपत्तिजनक बयान 2 दिन पहले आया था।मगर पार्टी ने आज तक इसका खंडन नहीं किया। इससे तय होता है कि  महिलाओं को लेकर भाजपा का रवैया कितना खराब  है।उनका कहना है कि पार्टी  सांसद के  बयान पर अगर मौन  है तो यह माना जा सकता है कि यह पार्टी का बयान पार्टी  का है। और अगर पार्टी से इस बयान से इत्तेफाक नही रखती तो अब तक सांसद के पी यादव के खिलाफ कोई कारवाई क्यों नहीं की गई।

 इस से पूर्व महिला कांग्रेस ने सांसद श्री यादव के खिलाफ धरना प्रदर्शन कर ज्ञापन दिया था। प्रधानमंत्री  से सांसद को तत्काल अपने पद से बर्खास्त करने की मांग की थी। ब्राह्मण समाज ने भी  कलेक्टर के खिलाफ सांसद के आपत्तिजनक बयान के विरोध में कल 29 तारीख को ज्ञापन देने की घोषणा की है।



"To get the latest news update download the app"