Breaking News
जब मध्य प्रदेश की मंत्री को महंगा पड़ा था अंबानी का विरोध | MP: कांग्रेस-बसपा गठबंधन की संभावना बरकरार, हो सकता है गुप्त समझौता | SC-ST एक्ट पर BJP में फूट: शिवराज के ऐलान से नाराज उदित राज, दे डाली यह नसीहत | दर्दनाक हादसा: दो कारों की भिड़ंत में जनपद सीईओ समेत 4 लोगों की मौत | कैसे पूरी होगी शिवराज की यह घोषणा | कांग्रेस की उम्मीदों पर फिर पानी, बसपा ने जारी की प्रत्याशियों की पहली सूची | डंपर काण्ड: CM के खिलाफ याचिका खारिज, SC ने कहा-'चुनाव लड़ना है तो मैदान में लड़ें, कोर्ट में नहीं' | बीजेपी विधायक का आरोप, सवर्ण आंदोलन के लिए हो रही विदेशी फंडिंग | व्यापमं का जिन्न फिर बाहर: दिग्विजय ने शिवराज, उमा समेत 18 के खिलाफ किया परिवाद दायर | चुनाव लड़ने का इंतजार कर रहे बीजेपी के 70 विधायकों में मचा हड़कंप! |

VIDEO: सरकारी गोदाम में अमानक अनाज, चने के बाेरे में निकला 5 किलो का पत्थर

अशोकनगर।  समर्थन मूल्य पर हो रही खरीदी में जमकर भ्रष्टाचार का खेल चल रहा है| एक तरफ फसल में कंकड़ पत्थर बताकर किसानों की उपज नहीं खरीदी जा रही है, वहीं दूसरी तरफ बारीकी से होने वाली गुणवत्ता जांच में पास होने के बाद खरीदी केंद्रों में रखी उपज में मिलावट मिल रही है|  समर्थन मूल्य और अलग-अलग संस्थाओं से जो माल सरकारी गोदाम में रखा जा रहा है ,वह पूरी तरह से अमानक निकल रहा है। साथ ही चने की बोरियों में पांच-पांच किलो तक के पत्थर निकल रहे हैं । यह मामला सामने आया है अशोकनगर के सरकारी गोदाम में । यहां ईसागढ क्षेत्र से आए चने की एक बोरी में पत्थर होने की शिकायत की गई। इसके बाद मुंगावली के कांग्रेस विधायक बृजेंद्र सिंह यादव एवं अन्य कांग्रेसी मौके पर पहुंचे । बोरी खुलवाई गई तो उसमें चने के साथ एक बड़ा पत्थर भी निकला। इसके अलावा कई दूसरी बोरियों की फसल चेक की गई तो वह भी अमानक निकली । कांग्रेस ने इसे बड़ा घोटाला बताया है|  अभी तक जिले में समर्थन मूल्य पर चल रही गेहूं की खरीदी में गड़बड़ियां सामने आई लेकिन ईसागढ़ समिति से आए चने के बंद बोर में निकले 5 किलो के पत्थर ने खरीदी पर सवाल खड़ा कर दिया

कांग्रेस विधायक का कहना है एक और किसानों की फसल समर्थन मूल्य पर खरीदी नहीं जा रही , उसे खराब बताई जा रही है । कइयों बार साफ करवाया जा रहा है ,वहीं दूसरी ओर मिट्टी युक्त एवं बड़े-बड़े पत्थरों को चने के साथ सरकारी गोदाम तक पहुँचाया जा रहा है । कांग्रेस ने इसे  बड़ा घोटाला बताते हुए कहा है कि इसमें खरीदी से जुड़े कई लोगो के शामिल है|  विधायक एवं अन्य लोगों ने मौके पर ही यह कार्रवाई की इस कारण यह घोटाला सामने आया है । 


जांच के बाद होगी कार्रवाई 

किसानों की उपज खरीदी के नाम पर एक तरफ उन्हें परेशान किया जा रहा|  खरीदी केन्द्रों पर किसानों के अच्छे माल को खराब बताकर लौटाया जा रहा है और दूसरी तरफ जमा होने के लिए इतना घटिया चना भेजा जा रहा है। बोरी में पत्थर मिलने का मतलब है कि इसे वजन बढ़ाने के लिए रखा गया है। विधायक ने रविवार शाम को वेयर हाउस में रखी बोरियों की परखी लगाकर जांच और बोरियां खुलवाकर उसमें मिले पत्थर बताए। हंगामे के बाद अपर कलेक्टर एके चांदिल, जिला आपूर्ति विभाग के अधिकारी व तहसीलदार सूर्यकांत त्रिपाठी मौके पर पहुंचे। खरीदी से जुड़े विभिन्न अधिकारी गोदाम पहुंचे साथ ही प्रशासनिक अधिकारियों ने भी इसका जायजा लिया है और चने का सेम्पल जांच के लिये लिया है। प्रारंभिक तौर पर इसे अनियमितता माना है। अधिकारियों का कहना है कि न केवल इस मामले की जांच कराई जाएगी बल्कि दोषियों के खिलाफ जरुरत हुई तो FIR भी कराई जाएगी। 


  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...