Breaking News
जब मध्य प्रदेश की मंत्री को महंगा पड़ा था अंबानी का विरोध | MP: कांग्रेस-बसपा गठबंधन की संभावना बरकरार, हो सकता है गुप्त समझौता | SC-ST एक्ट पर BJP में फूट: शिवराज के ऐलान से नाराज उदित राज, दे डाली यह नसीहत | दर्दनाक हादसा: दो कारों की भिड़ंत में जनपद सीईओ समेत 4 लोगों की मौत | कैसे पूरी होगी शिवराज की यह घोषणा | कांग्रेस की उम्मीदों पर फिर पानी, बसपा ने जारी की प्रत्याशियों की पहली सूची | डंपर काण्ड: CM के खिलाफ याचिका खारिज, SC ने कहा-'चुनाव लड़ना है तो मैदान में लड़ें, कोर्ट में नहीं' | बीजेपी विधायक का आरोप, सवर्ण आंदोलन के लिए हो रही विदेशी फंडिंग | व्यापमं का जिन्न फिर बाहर: दिग्विजय ने शिवराज, उमा समेत 18 के खिलाफ किया परिवाद दायर | चुनाव लड़ने का इंतजार कर रहे बीजेपी के 70 विधायकों में मचा हड़कंप! |

VIDEO: फरार आरोपी को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हमला, छीन ली रिवाल्वर

अशोकनगर।

मध्यप्रदेश के अशोकनगर जिले में पुलिस पर हमले का मामला सामने आया है। यहां धारा 307 के आरोपी को पकड़ने गई पुलिस पर ग्रामीणों ने ना सिर्फ हमला किया बल्कि उनकी रिवाल्वर के कारतूस भी छीन लिए। इस घटना में दो पुलिसकर्मी बुरी तरह से घायल हो गए। वही पुलिस की लापरवाही सामने आने के बाद पुलिस महानिरीक्षक अंशुमन यादव के निर्देशों पर एसपी तिलकसिंह ने उपनिरीक्षक नत्थूलाल पैकरा को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।घटना चंदेरी थाना क्षेत्र के खंगला गांव की है।

जानकारी के अनुसार, गुरुवार को चंदेरी थाने के सात पुलिसकर्मी खांगला गांव में एक हत्या के आरोपी को पकड़ने गई हुई थी। ग्रामीणो और परिजनों को जब इसकी खबर लगी तो उन्होंने उल्टा पुलिस पर ही हमला कर दिया। गांव के लोगों ने सभी पुलिस की टीम को घेर लिया और उनसे हाथापाई करने लग गए। इसी दौरान आरोपी के परिवार ने लाठी-कुल्हाड़ी से पुलिसकर्मियों पर हमला कर दिया, जिसमें दो पुलिसकर्मी घायल हो गये।ग्रामीण इतने पर भी नही रुके और एक सब ईस्पेक्टर की रिवॉल्वर  कारतूस सहित छीन ली और आरोपी को फरार कर दिया। फिलहाल इस पुरे मामले पर पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है लेकिन मुख्य आरोपी अभी भी फरार है।  इस घटना में पुलिस की लापरवाही सामने आने के बाद पुलिस महानिरीक्षक अंशुमन यादव के निर्देशों के बाद एसपी तिलकसिंह ने उपनिरीक्षक नत्थूलाल पैकरा को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। 

बता दे कि यह कोई पहला मामला नही है इससे पहले भी इलाके में पुलिस पर हमला किया गया है। वही कुछ लोगों पर शासकीय कार्य में बाधा का मामला दर्ज भी किया जा चुका है।



  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...