VIDEO: जब सिंधिया का नाम सुनते ही बिफर पड़े बीजेपी सांसद केपी यादव

अशोकनगर| गुना-शिवपुरी लोकसभा सीट से ज्योतिरादित्य सिंधिया को हराने वाले बीजेपी सांसद केपी यादव सिंधिया का नाम सुनते ही बिफर पड़े और विधायक से उनकी नोकझोंक हो गई| अशोकनगर शहर की सबसे बड़ी समस्यायो में सुमार रेल्वे अंडरब्रिज निर्माण में हो रही देरी को लेकर क्षेत्रीय सांसद डॉ केपी यादव ने कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक ली। बैठक में जैसे ही अशोकनगर के कांग्रेस विधायक जजपाल सिंह जज्जी ने इस अंडरब्रिज के लिये पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा सांसद निधि से राशि देने एवं उनके प्रयासों से अंडरब्रिज बनने की बात की तो, शांत बैठे भाजपा सांसद डॉ के पी यादव बिफर पड़े। सांसद बोले यह मीटिंग अंडरब्रिज बनने में हो रही देरी के कारणों पर बात करने के लिये हो रही है ना कि ये बताने के लिये पहले किसने क्या किया,  सिंधिया को लेकर सासंद के तीखे तेवर देख मीटिंग हॉल में एक दम सन्नाटा छा गया। 

यही नही मीटिंग में ज्योतिरादित्य सिंधिया के कामो का गुणगान कर रहे विधायक श्री जज्जी को भी सांसद श्री यादव ने यह कहते हुये रोक दिया कि आप अपने श्रीमंत के काम बताएंगे तो उनकी पार्टी द्वारा किये गये काम वह भी बता सकते है। दोनो जनप्रतिनिधियो के बीच कुछ देर के लिये माहौल तल्ख हो गया। हालांकि  मीडिया के कैमरे देख दोनो कुछ देर बाद शांत हुये एवं मीटिंग सामान्य रूप से चलने लगी। सिंधिया को लोकसभा चुनाव में हराने वाले एवं अमूमन हमेशा शांत रहने बाले सासंद डॉ केपी यादव पहली बार सार्वजनिक रूप से ज्योतिरादित्य  सिंधिया को लेकर उग्र हुये, हालांकि बाद में मीडिया के सामने उन्होंने बात संभालने की कोशिश  करते हुये कहा कि पूर्व में जो जनप्रतिनिधि रहे है उन्होंने भी अंडर ब्रिज के लिये राशि दी एवं प्रयास किये है। चूंकि अब और राशि की जरूरत है तो आगामी 15 दिन में वह एवं विधायक मिल कर राशि का इंतजाम कर लेंगे। 

लोकसभा चुनाव परिणाम के बाद दूसरी बार कलेक्ट्रेट में बैठक ले रहे सांसद  यादव ने आज की बैठक आयोजित करवाई थी। जिसमे जिला प्रशासन,रेलवे एवं नगरपालिका के अधिकारियों के साथ कांग्रेस विधायक एवं  बड़ी संख्या में स्थानीय लोग मौजूद थे। कभी ज्योतिरादित्य सिंधिया के सांसद प्रतिनिधि रहे केपी यादव ने बैठक में सिंधिया के नाम आने पर असहमति जता कर एक सीधा सन्देश देने की कोशिश की है कि सिंधिया के प्रभाव को अनावश्यक स्वीकार नही किया जायेगा। हालांकि बाद में सांसद एवं विधायक दोनो ने सहमति से यह तय किया है कि आगामी 15 दिन में अंडर ब्रिज बनबाने के आ रही दिक्कतों का निराकरण कर लिया जायेगा।


"To get the latest news update download the app"