ग्रामीणों ने नही दी रिश्वत, अधिकारी ने सरपंच से पैसे लेकर मतदाताओं के नाम दूसरी पंचायत में जोड़े

अशोकनगर मुंगावली अलीम डायर।

 ग्राम पंचायतों के चुनाव आने से पहले ही ग्रामीण अंचलों में चहल कदमी तेज होती नजर आ रही है ग्राम पंचायतों के सीमांकन को लेकर कई आपत्तियां वाद विवाद  सामने आ रहे हैं ऐसा ही एक विवाद जनपद पंचायत मुंगावली के अंतर्गत आने वाले ग्राम पंचायत बीलाखेड़ा का है यहां के वार्ड नंबर 10 गृह क्रमांक 82 से 91 तक के 114 मतदाताओं को बीलाखेड़ा पंचायत से उठाकर ग्राम पंचायत दमदमा में जोड़ दिया गया है।तो वहीं ग्रामीण वासियों का कहना है कि यह एक साजिश के तहत किया गया है क्योंकि जनपद पंचायत के अधिकारी प्रेम नारायण सैनी ने उनसे  50 हजार की रिश्वत की मांग की थी जो कि ग्रामीणवासी नहीं दे पाए। इस लिये प्रेम नारायण सैनी ने दमदमा पंचायत के सरपंच से 50 हजार लेकर 114 मतदाताओं के नाम दमदमा पंचायत में जोड़ दिए।

जिसका विरोध करते हुए ग्राम पंचायत बीलाखेड़ा के समस्त ग्रामीण वासियों ने सोमवार को जनपद पंचायत आकर जनपद पंचायत के वरिष्ठ अधिकारी सीईओ सलीम खान को ज्ञापन दिया जिसमें कहा गया कि ग्राम पंचायत बीलाखेड़ा  के वार्ड नंबर 10 गृह क्रमांक 82 से 91 तक के 114 मतदाता ग्राम बीलाखेड़ा के मूल निवासी हैं और बरसों से यहां रहते आ रहे हैं हम किसी और पंचायत में नहीं जाना चाहते हैं प्रथम प्रकाशन के आधार पर आपत्ति समय पर प्रस्तुत की गई थी उसमें संलग्न वोटर लिस्ट की सूची पटवारी की रिपोर्ट  ग्राम का नक्शा सहित ग्राम पंचायत का पंचनामा आदि दस्तावेज संलग्न है ।यह एक साजिश के तहत जनपद पंचायत के अधिकारी और नेताओं की मिलीभगत से किया जा रहा है।वही जब इस संबंध में जनपद पंचायत अधिकारी सीईओ सलीम खान से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि मुझे भी आज ही इन्हीं के द्वारा जानकारी मिल रही है मैं मामले की जांच कर लूंगा और इस संबंध में जिले के वरिष्ठ अधिकारियों से भी बात करूंगा।

"To get the latest news update download the app"