ग्राम गोरा मिडिल स्कूल के टीचर नदारद, प्राइमरी क्लास में बैठने को मजबूर स्कूल के बच्चे

अशोकनगर मुंगावली अलीम डायर।

ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा को लेकर जहां एक ओर सरकार  और राज्य सरकार द्वारा अनेकों प्रयास किए जा रहे हैं और स्कूल चले हम  जैसे कई अभियान भी चलाए जा रहे हैं  लेकिन जब टीचर ही  स्कूलों में पढ़ाने नहीं जाएंगे  तो सरकार के इन अभियानों को चलाने का क्या फायदा। ऐसे ही एक मामला है अशोकनगर जिले के मुंगावली तहसील के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत गोरा के मिडिल स्कूल का है जिसमे 8 टीचरों के स्टाफ में से 4 टीचर नदारद पाए गए। जब मामले की जांच की गई तो पता चला कि मिडिल स्कूल के 2 टीचर जगत सिंह और अनिल कुमार छुट्टी पर हैं ओर दो टीचर प्रदीप बैरागी और सैयद हाफिज अली स्कूल से नदारद है और प्राइमरी के 4 टीचर पूरा स्कूल संभाल रहे हैं जिसमें मिडिल स्कूल के बच्चों को भी मजबूरन प्राइमरी क्लास  मैं बैठना पड़ रहा है जिससे मिडिल स्कूल बड़ी क्लास 6,7 ओर 8वी के बच्चों की पढ़ाई का नुकसान तो हो ही रहा है वहीं प्राइमरी के बच्चों की भी पढ़ाई पर असर पड़ रहा है क्योंकि जब प्राइमरी की क्लास के साथ टीचर्स मिडिल स्कूल के बच्चों को पढ़ाएंगे तो ना तो प्राइमरी के बच्चे अपनी पढ़ाई ढंग से कर पाएंगे और ना ही मिडिल स्कूल के बच्चे अपनी पढ़ाई पर ध्यान दे पाएंगे। जिसके चलते बच्चों की पढ़ाई का काफी नुकसान हो रहा है और जिम्मेदार इस ओर ध्यान नहीं दे रहे। वहीं ग्रामीणों का कहना है कि स्कूल के प्रधानाध्यापक महोदय सैय्यद हाफिज अली महीने में 4,5 दिन ही स्कूल आते हैं। जब स्कूल के प्रधानाध्यापक ही स्कूल से नदारद रहते हैं तो स्कूल की हालत क्या होगी।


"To get the latest news update download the app"