सांसदों को मृत मानकर 545 ने कराया मुंडन, अब तेरहवीं करेंगे, नेताओं को शोकपत्र भेजे

अशोकनगर| एट्रोसिटी एक्ट के खिलाफ प्रदेश में चल रहे विरोध प्रदर्शन के बीच अशोकनगर में अनूठा विरोध किया जा रहा है| बीते 14 सितम्बर को यहां लोगों ने विरोध स्वरुप 545 सांसदों की सामूहिक शवयात्रा निकाली और मुंडन भी कराया था| अब आगामी 25 सितम्बर को तुलसी पार्क चौराहे पर सासंदो की मरी हुई आत्मा की तेहरवी का आयोजन भी किया जा रहा है। किसी व्यक्ति के मर जाने पर होने बाले सभी संस्कार यहां किये जा रहे है। बकायदा इन सांसदों की आत्मा की मृत्यु का शोक संदेश देते हुए शोकपत्र भी छपवाए गए है। सभी सासंदो को उनकी आत्मा की मौत के बाद तेहरवीं के कार्यक्रम में बुलाने के लिये युवाओं ने अभी 545 सांसदों को डाक से शोकपत्र भेजे है। यह सब भी तब हो रहा है जब  इस एक्ट के विरोध में पनपे विरोध को कम करने के लिये मुख्यमंत्री द्वारा घोषणा की गई है कि बिना जांच के गिरफ्तारी नही होगी। एक्ट में हुए बदलाब का विरोध कर रहे लोग इसे मुख्यमंत्री की कोरी घोषणा भर मान रहे है और इस घोषणा का सर्वण, पिछड़ा एवं अल्पसंख्यक वर्ग  पर कोई गहरा असर नहीं पड़ा।

शनिवार को सर्वण  समाज के युवाओ द्वारा सभी 545 सांसदों के लिए संसद में पोस्ट ऑफिस द्वारा शोकपत्र भेजे है। यह शोकपत्र स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं राजनेताओं को भी भेजे जा रहे है। पत्र में लिखा है अत्यंत दुःख के साथ सूचित करना पड़  रहा है की भारतीय संसद के 545 सदस्य और जनता द्वारा चुने हुए सांसदों की आत्मा का स्वर्गवास माननीय सर्वोच्च न्यायलय के फैसले के विरुद्ध sc \st  एक्ट संसोधित बिल पारित करते समय संसद के अंदर हो गया था सभी दलों के सांसदों की आत्मा को मृत समझकर इनकी काल्पनिक शवयात्रा और सामूहिक मुंडन कार्यक्रम दिनांक 14-09-2018 को अशोकनगर में तुलसी पार्क पर रखा गया था|  इन सभी सांसदों की आत्मा की शांति हेतु दिनांक 23-09-2018 को कच्ची के रश्म एवं दिनांक 24-09-2018 को गंगा जी पूजन एवं कड़ाई चढ़ेगी सो आप जानना जी| 


महिलाएं भी विरोध में उतरीं

अशोकनगर में एक्ट में हुए बदलाब का विरोध रुकने का नाम ही नहीं ले रहा है। दिन प्रति दिन विरोध बढ़ता ही जा रहा है । पहले सिर्फ  पुरुषो द्वारा विरोध किया जा रहा था, लेकिन अब महिलाये भी इस एक्ट के खिलाफ मैदान में उतर गई है ।  बीते दिन महिलाओ द्वारा पहली बार् एक मंच लगाकर इस संशोधित बिल का विरोध किया गया था जिसमे महिलाओ के साथ साथ कुछ स्कूली छात्राएं भी शामिल हुई थी | 



"To get the latest news update download tha app"