चुनाव से पहले सिंधिया पुत्र सक्रिय, राजनीति में आने के सवाल का दिया यह जवाब

अशोकनगर।  पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के बेटे महाआर्यमन सिंधिया रविवार एवं सोमवार को अशोकनगर जिले में रहे । इस दौरान उन्होंने चंदेरी , मुंगावली एवं अशोकनगर में कई कार्यक्रमों में भाग लिया। कहने के लिए तो यह सिंधिया परिवार के युवराज का गैर राजनैतिक दौरा था । जिसमें वह लोगों से मिलने जुलने आए थे । लेकिन पूरे कार्यक्रम के दौरान कांग्रेस पार्टी के नेता महाआर्यमन के आगे पीछे घूमते रहे । 

चंदेरी के बाजार में आर्यमन लोगों से मिले। इसके बाद जिला मुख्यालय पर संजय स्टेडियम में क्रिकेट प्रशिक्षण कैंप के समापन समारोह में शामिल हुए। यहां क्रिकेट प्रतिभाओं को आर्यमन ने सम्मानित किया। इसके बाद आर्यमन अशोकनगर के बाजार में निकले और दुकानों पर जाकर लोगों के साथ चाट पकौड़ी का आनंद लिया ।इस दौरान आर्यमन स्थानीय लोगों से मेल मुलाकात एवं जान पहचान करते रहे । 

राजनीति में करियर बनाने पर बोले..अभी पढ़ाई कर रहा हूँ 

मीडिया  से बातचीत करते हुए आर्यमन ने कहा कि वह लोगों से मिलने जुलने एवं इस क्षेत्र की समस्याओं को समझने के लिए आए हैं। उन्होंने कहा कि जो भी चीजें उनको यहां दिखती हैं उन सबको अपने पिता ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ साझा करते हैं । आर्यमन बोले कि हम ज्योतिरादित्यजी के साथ एक टीम के तौर पर काम कर रहे हैं । अभी वह अपने पिता के संसदीय क्षेत्र में लोगों से रूबरू हो रहे हैं । इस दौरान आर्यमन ने बताया की फिलहाल लोगों के पास कई सारी समस्याएं हैं, जिनमें राशन कार्ड का ना होना, किसानों के लिए खाद पानी की समस्या एवं और भी दूसरी कई बड़ी समस्याएं सामने आई हैं। इस पूरे दौरे को आर्यमन  राजनीतिक दौरा नही मानते। राजनीति को कैरियर बनाने के सवाल पर आर्यमन का कहना है कि अभी तो वह पढ़ाई कर रहे हैं इस बारे में अभी कुछ नहीं सोचा।


नेता पुत्रों के लिए तैयार हो रहीं राजनीतिक जमीन 

चुनावी साल में नेता पुत्रों का राजनीति के तरफ रुख देखने को मिल रहा है| हाल ही में सीएम के पुत्र भी सामाजिक कार्यक्रमों में दिखाई दिए| वही ग्वालियर-चंबल अंचल के तीन बड़े नेताओं के पुत्रों को पार्टी में अहम जिम्मेदारी मिली है|  केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के बेटे देवेंद्र प्रताप सिंह ग्वालियर संसदीय क्षेत्र के पोहरी और करैरा विस क्षेत्रों में सक्रिय हैं। वहीं शिवपुरी से लोकसभा का चुनाव लड़ चुके और प्रदेश सरकार में मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा के बेटे सुकर्ण मिश्रा और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा के बेटे तुष्मुल झा को युवा मोर्चा में अहम जिम्मेदारी मिली है। अब सिंधिया पुत्र भी मैदान में हैं| सिंधिया घराने का प्रदेश की राजनीति में वर्चश्व रहा है, परिवार के तीन पीड़ी राजनीति में सक्रिय रही अब चौथी पीड़ी आर्यमन की सक्रियता भी उनके राजनीति में जल्द एंट्री की संकेत दे रही है| फिलहाल जूनियर सिंधिया की सक्रियता ग्वालियर चम्बल इलाके में चर्चा का विषय बनी हुई है|