लोकायुक्त की कार्रवाई, नायब तहसीलदार का रीडर रिश्वत लेते रंगेहाथों धराया

बालाघाट। लोकायुक्त जबलपुर की टीम ने रिश्वत लेते नायब तहसीदार के रीडर को रंगेहाथों गिरफ्तार किया है| आरोपी रीडर केंद्रीय जेल में बंद सुरेश नगपुरे के पैरोल की कागजी कार्यवाही के नाम पर 2 हजार की मांग की थी, जिसकी शिकायत पर लोकायुक्त ने कार्रवाई की है| आरोपी रीडर के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत कार्यवाही कर उसे निजी मुचलके पर जमानत दे दी है| 

प्राप्त जानकारी के अनुसार केंद्रीय जेल में बंद सुरेश नगपुरे के पैरोल की कागजी कार्यवाही के नाम पर नायब तहसीदार के रीडर सहायक ग्रेड 3 नबुलाल शरणागत द्वारा 2 हजार की रिश्वत की मांग की गई थी| शिकायतकर्ता महेंद्र नगपुरे ने जब पैसे कम करने का बोला तो वह पूरे 2 हजार रुपए ही अड़ा रहा। जिसके बाद मैंनेमहेंद्र ने इसकी शिकायत लोकायुक्त पुलिस को कर दी| आज दोपहर को जब तहसील कार्यालय परिसर में स्थित नायब तहसीलदार कोर्ट में शिकायतकर्ता ने जैसे ही 2 हजार रुपए रिश्वत के रुप मे लिपिक शरणागत को दिये,  तभी लोकायुक्त ने रंगेहाथों रीडर को गिरफ्तार कर लिया| लिपिक शरणागत के पास से 5-5 सौ के नोट बरामद कर उसके खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत कार्यवाही की गई|   

इस कार्रवाई के दौरान लोकायुक्त निरीक्षक मनोज कुमार, आरक्षक शरद पांडे, राकेश विश्वकर्मा, गोविंद पटेल, शिकायतकर्ता महेंद्र नगपुरे, कांग्रेस युवा नेता आतिश लिल्हारे मौजूद थे।