Breaking News
व्यापमं का जिन्न फिर बाहर: दिग्विजय ने शिवराज, उमा समेत 18 के खिलाफ किया परिवाद दायर | चुनाव लड़ने का इंतजार कर रहे बीजेपी के 70 विधायकों में मचा हड़कंप! | अधिकारी की कलेक्टर को नसीहत, 'आपकी कार्यशैली पर लज्जा आती है, तबादला करा लें' | दागियों का कटेगा टिकट, साफ-सुथरी छवि के नेताओं को चुनाव में उतारेगी भाजपा | फ्लॉप रहा कांग्रेस का 'घर वापसी' अभियान, सिर्फ कार्यकर्ता लौटे, नेताओं ने बनाई दूरी | शिवराज कैबिनेट की बैठक ख़त्म, इन प्रस्तावों पर लगी मुहर | सीएम चेहरे को लेकर सोशल मीडिया पर जंग, दिग्विजय भड़के | मुख्यमंत्री के काफिले पर पथराव, महिदपुर- नागदा के बीच की घटना, पुलिस वाहन के कांच फूटे | अब भोपाल में राहुल ने फिर मारी आंख, वीडियो वायरल | एमपी की 148 सीटों पर खतरा, बिगड़ सकता है बीजेपी का चुनावी गणित |

रूम टू रीड संस्था द्वारा आयोजित समर कैंप का हुआ भव्य समापन


चाचरियापाटी : रूम टू रीड इंडिया ट्रस्ट द्वारा रावजी फलिया चाचरियापाटी में 5 दिवसीय समर कैंप का आयोजन किया गया । समर कैंप के अंतिम दिवस के कार्यक्रम का विधिवत शुभारंभ राष्ट्रगान और मध्यप्रदेशगान के साथ किया गया ।कार्यक्रम में चौकी प्रभारी श्री गुड़िया द्वारा बच्चो को वर्तमान में  शिक्षा के महत्व के बारे में विस्तार बताया गया और पालको से आह्वान किया कि वे बच्चो को नियमित विद्यालय भेजे 

कार्यक्रम में एल एफ मनीष कुमार गुप्ता ने रूम टू रीड संस्था की जानकारी स्थानीय भाषा में सभी को दी साथ ही साथी एल एफ अभिषेक चतुर्वेदी द्वारा समर कैंप के महत्व के बारे में बताया गया ।


समर कैंप के दौरान हुई विभिन्न गतिविधियां

समर कैंप के दौरान बच्चो के साथ कई प्रकार की गतिविधियों का आयोजन किया गया जैसे मट्टी से कलाकृति का निर्माण करना, पुस्तकालय की गतिविधिया, कहानिया एवं बालगीत भी एल एफ अभिषेक चतुर्वेदी और मनीष कुमार गुप्ता द्वारा बच्चो को सुनाई गई जिससे की बच्चो की शेक्षणिक रूचि में अभिवृद्धि हुई 

रूम टू रीड के द्वारा आयोजित समर कैंप में बच्चो के साथ थिरके चौकी प्रभारी श्री गुंडिया ,जनशिक्षक  एवं जनप्रतिनिधि

:- समर कैंप के अंतिम दिन बच्चो के साथ चौकी प्रभारी,जनशिक्षक दिनेश मालवीय सहित जनप्रतिनिधि सरपंच सायसिंग आर्य,पंच मगन अलावे,फेराग्या सोलंकी,रमेश अलावे,नारायण अलावे  सहित पालकगण एवं बच्चे उपस्थित थे ।

कार्यक्रम के समापन पर सभी का आभार जनशिक्षक दिनेश मालवीय द्वारा व्यक्त किया गया ।

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...