बहुचर्चित सुमित लहरपुरे हत्याकांड का खुलासा, बैटरी बनी मौत का कारण, 5 गिरफ्तार

बैतूल ।। हेमंत पवार ।। 

जिले के आठनेर ब्लाक के बहुचर्चित सुमित लहरपुरे हत्याकांड का खुलासा शनिवार को बैतूल पुलिस ने कर दिया इस हत्याकांड में शामिल 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया तो वही अभी दो आरोपी फरार है । बता दे की सुमित का शव 11 जुलाई को ताप्ती नदी के किनारे मिला था । शव मिलने के बाद पुलिस की कार्यप्रणाली से नाखुश परिजनों और नगरवासियो दूसरे दिन 12 जुलाई को आठनेर में चक्का जाम कर दिया था और तनाव पूर्ण स्थिति को देख कलेक्टर और एसपी ने जाकर परिजनों की मांग पर एसआईटी गठित कर जल्द मामले को सुलझाने की बात की थी जिसके बाद मामला देर शाम शांत हो पाया था। इस मामले में पुलिस ने आरोपियों का पता बताने वाले को 5 हजार रूपए इनाम देने की घोषणा भी की थी । सुमित की हत्या का कारन ट्रक के एक बैटरी बनी...

बैतूल एसपी डी आर तेनिवार ने शनिवार को कण्ट्रोल रूम में पत्रकारवार्ता कर मामले का खुलासा करते हुए बताया की सुमित लहरपुरे 9 जुलाई की रात को गायब हो गया था और 2 दिन बाद उसका शव ताप्ती नदी के किनारे मिला था मृतक की मौत का कारन ट्रक की एक बनी थी । एसपी ने बताया की मृतक जिस ट्रक में सोया हुआ था उसकी बैटरी चोरी करने का प्रयास आरोपियों द्वारा किया जा रहा था की तभी सुमित की नींद खुल गई और आरोपियों से उसकी कहा सुनी हुई और फिर मार पिटाई जिसमे उसकी मौत हो गई ।पकड़ा जाने के डर से आरोपियों ने उसे अपनी टवेरा गाडी के डालकर ले गए और शव को ताप्ती नदी में फेक कर फरार हो गए थे । बैटरी चोरी की घटनाओ को टारगेट में रखकर पुलिस ने मामले की जाँच आगे बढ़ाई और 5 आरोपियों को पकड़ने में सफलता हासिल की । एसपी ने बताया की सभी आरोपी शौक़ीन मिजाज है काना पीना , लड़कियो से बातचीत करने और गिरलफ्रेंड बनाने के शौक़ीन है पैसो के लिए ही आरोपीयो ने चोरी का मन बनाया था। पुलिस ने आरोपियों पर धारा 302 के तहत मामला दर्ज किया है और कोर्ट से पुलिस रिमांड मांगेगी ।

घटना को अंजाम देने में शामिल एक आरोपी सादाब खान ने बताया की वो और उसके साथी शराब पीकर बडोरा से आठनेर निकले थे और उन्हें एक ट्रक खड़ा दिखाई दिया तो एक साथी बोला की चलो बैटरी निकाल लेते है । बैटरी निकालने की आवाज सुनकर मृतक सुमित लहरपुरे जाग गया और उनकी टवेरा गाड़ी का नंबर लिखने लगा उन्होंने सुमित के साथ मार पिटाई की जिसमे उसकी मौत हो गई और शव को ताप्ती नदी में फ़ेक कर भाग गए । आरोपी के मुताबिक उनका वे मारने का कोई इरादा नहीं था वह चिल्ला रहा था इस कारण उसे मार दिया ।

हत्याकांड के खुलासे से सुमित के पिता नंदकिशोर लहरपुरे और चाचा उमेश संतुष्ट नजर आए पुलिस की कार्यप्रणाली की तारीफ़ की और उन्होंने मांग की है की उनके बेटे के हत्यारो को फाँसी की सजा होना चाहिए । उनका बीटा बहुत ही समझदार और होशियार था ।