करोड़ो की धोखाधड़ी कर फरार एजेंट महाराष्ट्र में धराया, ठगी के शिकार लोगों का थाने में जमावड़ा

बैतूल/सारनी ।। हेमंत पवार ।। 

सारनी क्षेत्र की जनता से धोखाधड़ी कर 5 करोड़ की ठगी करने वाला यूनियन बैंक का एजेंट गिरफ्तार बताया जा रहा है । 1 वर्ष पूर्व चंद्रकिशोर देशमुख उर्फ चंदू मठारदेव कॉलोनी निवासी अपने आप को यूनियन बैंक में परमानेंट कर्मचारी बताता था । यूनियन बैंक में आए उपभोक्ताओं को अपनी चिकनी चुपड़ी बातों से शिकार बनाकर बैंक आए उपभोक्ता का पता प्राप्त कर उनके निवास स्थान पर पहुंच जाता था । नगरवासी और ग्रामीणों को लोन के नाम पर धोखाधड़ी करता था तथा कुछ लोगों को FD के नाम पर तथा लोगों से पैसे लेकर ज्यादा ब्याज दर देने और डबल कर दूंगा कहकर लोगों से पैसा हड़पने धोखेबाजी कर जनता के रुपय लेकर क्षेत्र से फरार हो गया था ।  कुछ लोगों ने अलग-अलग जगह FIR कर चंद्रकिशोर के ऊपर प्रकरण दर्ज करा चुके है। FIR के आधार पर कई बार न्यायालय से गिरफ्तारी वारंट भी आ चुके है चंद्रकिशोर के नाम पर सारनी थाने में भी मामला दर्ज है। 

जैसे ही क्षेत्र की जनता को पता चला कि चंद्रकिशोर उर्फ चंदू 2 दिन पहले महाराष्ट्र के सावनेर से गिरफ्तार हो चुका है तो उन्होंने सारनी थाने पहुचकर ज्ञापन दिया और अपने पैसे वापसी की मांग की । आज 18 अप्रैल को पाथाखेड़ा, शोभापुर और सारनी के बहुत से लोग सारनी थाने पहुचे और अपने पैसों की मांग थाना प्रभारी से की । थाने आए महिलाओ व व्यक्तियों ने बताया की किसने कितनी रकम का धोखा खाया है इसका खुलासा पुलिस ही कर सकती है । लोगो ने बताया कि ठगी का यह मामला करोड़ो रुपय का है ।


।। लोगो द्वारा चंद्रकिशोर को दी हुई रकम ।।

 प्रभु लाल 18 लाख, मुकेश 10 लाख ,सिद्धू बरइया 7 लाख ,कमल चौरे 20 लाख, सुरेंद्र चौधरी 20 लाख, संदीप चौधरी 75 लाख ,मनोज 10 लाख ,प्रमोद कुशवाहा 10 लाख दिए है । इसके अलावा भी कई लोग है जिन्होंने रुपय दिए है । इन सभी लोगों ने सारनी थाने पहुचकर चंद्रकिशोर के सबूत पेश किए किसी ने पासबुक की एंट्री तो किसी ने चेक  दिखाए । चंदू को दिए गए सेंट्रल बैंक तथा यूनियन बैंक के चेक दिखाएं है । चंद्रकिशोर ने क्षेत्र की जनता से FD, लोन ,बीमा, रुपए डबल, ज्यादा ब्याज दर के नाम पर करोड़ों की ठगी कर क्षेत्र से फरार हो गया  था । जिसे महाराष्ट्र के सावनेर से रात्रि के समय गिरफ्तार करने में पुलिस को बड़ी सफलता प्राप्त हुई है ।

ज्ञापन सौंपने आए पीड़ितों ने बताया कि चंद्रकिशोर को पैसे देने कभी-कभी वह शॉपिंग सेंटर कि चौकी के बगल की दुकान में भी आया करते थे । चंद्रकिशोर से मिलने की जब भी बात करते हैं थे तो वह शॉपिंग सेंटर की उसी दुकान पर मिलता था दुकान में बैठकर ही कई बार चंदू ने चेक लिए है । सारनी क्षेत्र के तीन से चार युवकों ने चंदू के साथ मिलकर क्षेत्र की जनता को चूना लगाने में कोई कसर नहीं छोड़ी । फिलहाल पुलिस अभी जांच चलने की बात कह रही है