शिवराज की सभा में छात्राओं के उतरवाए दुपट्टे, कांग्रेस ने घेरा

बैतूल। मध्यप्रदेश के बैतूल जिले में मंगलवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहन की जनसभा में शामिल होने आईं कॉलेज छात्राओं की पुलिस ने कथित तौर पर चुन्नी उतरवा ली। चुन्नी का रंग काला था ऐसे में पुलिस को आशंका थी की कही कोई सीएम को काली चुन्नी न दिखा दे। हाल ही में प्रदेश में एससी एसटी एक्ट को लेकर नेताओं को काले रंग के झंडे दिखा कर विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। 

नाम गुप्त रखने की शर्त पर स्थानीय मीडिया को छात्राओं ने बताया कि "एक महिला पुलिस अधिकारी ने पहले हमारी चुन्नी उतरवाकर हमारे ही बैग में रखवा दिया। फिर कुछ देर बाद मुख्यमंत्री के आने से पहले पुलिस ने हमारी चुन्नियां ले ली और कहा कि मुख्यमंत्री का कार्यक्रम समाप्त हो जाने के बाद वापस लौटा दी जाएगी।

रात साढ़े आठ बजे तक उन्हें उनकी चुन्नियां वापस नहीं मिल पाई हैं। दरअसल, मुख्यमंत्री सामुदायिक नेतृत्व विकास क्षमता कार्यक्रम के तहत कराए जाने वाले बैचलर ऑफ सोशल वर्क (बीएसडब्ल्यू) की आधा दर्जन से अधिक छात्राएं मुख्यमंत्री के मंगलवार को मुलताई पहुंचने की खबर सुनकर उनके कार्यक्रम में शामिल होने पहुंची थीं। इन छात्राओं का ड्रेस कोड गुलाबी कुर्ती, काली सलवार और काली चुन्नी है।

नेता प्रतिपक्ष ने साधा निशाना

इस मामले को लेकर राजनीति गरमा गई है। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह पर निशाना साधा है। उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा है कि 14 साल से जिन भांजियों के मामा बने हैं शिवराजजी उनसे रिश्ते इतने खराब हो गए कि अपनी सभा में उनके दुपट्टे भी उतरवाने लगे।

गौरतलब है कि जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान बैतूल, मुलताई और भैंसदेही पहुंचे मुख्यमंत्री चौहान जैसे ही मुलताई पहुंचे, कांग्रेस के पूर्व विधायक सुखदेव पांसे के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जोरदार नारेबाजी करते हुए ‘मुख्यमंत्री वापस जाओ' के नारे लगाये। साथ ही, जनआशीर्वाद यात्रा का रथ जैसे ही बैतूल जिला मुख्यालय स्थित लल्ली चौक पहुंचा, वहां मौजूद कांग्रेस की दो महिला नेताओं ने मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाये। हालांकि, बाद में पुलिसकर्मियों ने दोनों महिलाओं से काला कपड़ा छीन लिया।

"To get the latest news update download tha app"