Breaking News
प्रशासन बता रहा 'डेंगू' छुआछूत की बीमारी | किसकी होगी पूरी मुराद, आज महाकाल के दर पर सिंधिया-शिवराज | सड़क पर सियासत : कमलनाथ बोले- बुधनी से अच्छी छिंदवाड़ा की सड़कें, शिवराज जी एक बार जरुर आए | सुल्तानगढ़ वॉटरफॉल हादसा : मौत से संघर्ष के बाद भी कैसे हार गई 9 जिंदगियां, देखें वीडियो | शर्मसार : सागर में नाबालिग से गैंगरेप, बीते दिनों ही मिला था सबसे सुरक्षित शहर का तमगा | कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने लिया विस चुनाव में भाजपा को उखाड़ फेंकने का संकल्प | केंद्रीय मंत्री की बहन को एसिड अटैक और मारने की धमकी | खाना खाने के बाद बिगड़ी तबियत, दो सगी बहनों की मौत, मां की हालत गंभीर | पूर्व राष्ट्रपति शंकर दयाल शर्मा की जन्मशताब्दी मनाएगी सरकार : शिवराज | अस्पताल के बच्चा वार्ड में लगी आग, मची अफरा-तफरी, 35 बच्चे थे भर्ती |

85 लाख की मर्सिडीज से घूम रहे चीफ इंजीनियर, पूछा किसकी है तो हुए रफूचक्कर

भिंड। |  सर्किट हाउस पर उस समय सब हक्का बक्का रहे गए जब जल संसाधन विभाग के चीफ इंजीनियर एनपी कोरी 85 लाख रुपए की मर्सिडीज बैंज कार से पहुंचे| इतनी महंगी लग्जरी कार तो बड़े उद्योगपति या बिजनेसमैन के पास ही देखी जाती है| जब एक सरकारी अधिकारी मर्सिडीज बैंज से उतरा तो सवाल भी लाजमी थे | इसी दौरान कांग्रेस जिलाध्यक्ष डॉ. रमेश दुबे भी सर्किट हाउस पहुँच गए| जब उन्होंने पूछा तो सीई सकपका गए और पहले बोले कि किराए से लेकर आया हूं फिर कार में सवार होकर रवाना हो गए। 

दरअसल, घटिया नहर निर्माण की शिकायतों को लेकर कांग्रेस जिलाध्यक्ष डॉ. रमेश दुबे सर्किट हाउस पहुंचे। जहां जल संसाधन विभाग के चीफ इंजीनियर एनपी कोरी 85 लाख रुपए की मर्सिडीज बैंज कार लेकर आये हुए थे| जिलाध्यक्ष चीफ इंजीनियर से घटिया नहरों के निर्माण की शिकायत करने लगे तो चीफ इंजीनियर ने कहा कि वे अब ग्वालियर नहीं हैं, उनका तबादला तो दतिया हो गया है। जब मर्सिडीज को देखा तो पता चला कि सीई इसी कार से आये हैं| यह देख जिलाध्यक्ष ने चीफ इंजीनियर से कहा कि गाड़ी बड़ी अच्छी है। अंदर से दिखवा दो।  जब उन्होंने पुछा किसकी है तो कहने लगे कि मैं तो किराए पर लेकर आया हूं। जिलाध्यक्ष ने सवाल किया कहां से किराए पर लेकर आए। टैक्सी तो है नहीं। इस पर टैक्सी प्लेट भी नहीं है। खुद को फंसता देखकर चीफ इंजीनियर बोले मेरी नहीं है, जिलाध्यक्ष ने पूछा किसकी है कार इस पर चीफ इंजीनियर ने कहा किसी की भी हो। जिलाध्यक्ष के सवालों और मीडिया के पहुँचते ही सीई कार में सवार होकर निकल गए| वहीं जिलाध्यक्ष ने कार के नंबर को ऑनलाइन चेक कराया तो मर्सिडीज बैंज कार भोपाल की किसी सृष्टि कंस्ट्रक्शन के नाम थी।  उनका इस महंगी कार में आना चर्चा का विषय बना हुआ है| एक तरफ भ्रष्टाचार और ठेकेदारों से सांठगांठ के आरोप लगते हैं वहीं अधिकारी लाखों रुपए की कार में घुमते हैं, यह सामान्य नहीं लगता| कई सवालों को जन्म देता है| 

वीडियो बंसल न्यूज़ के सौजन्य से 



  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...