Breaking News
पेट्रोल-डीजल के दामों को लेकर विरोध प्रदर्शन जारी, कहीं ठेले पर बाईक रख जताया विरोध तो कहीं धरने पर बैठे कांग्रेसी | VIDEO : भूरी टेकरी विस्थापन को लेकर निगम की कार्रवाई, कांग्रेस विधायक ने मांगी मोहलत | राहुल गांधी के कार्यक्रम पर प्रशासन की 19 शर्तें, सिर्फ 15 फ़ीट के टेंट में सभा की इजाजत | VIDEO : भोपाल मेयर की सख्त कार्रवाई, नगरनिगम की ट्यूबवेल से हटवाया दबंग का कब्जा | कमलनाथ ने कार्यकर्ताओं को दिए निर्देश, मंडी में किसानों के साथ मिल सरकार के खिलाफ करें प्रदर्शन | प्रधानमंत्री योजना का आवास ना मिलने पर ग्रामीण ने खाया जहर, सरपंच-सचिव पर लगाया रिश्वत मांगने का आरोप | फेसबुक पर कलेक्टर को जान से मारने की धमकी, गृहमंत्री और सांसद पर भी आपत्तिजनक पोस्ट | 23 करोड़ का आईएएस.. | कांग्रेस प्रदेश कार्यसमिति का गठन, 20 जिला अध्यक्षों की घोषणा, दिग्विजय को अहम जिम्मेदारी | शिवराज कैबिनेट के फैसले, यहां पढ़िए विस्तार से |

85 लाख की मर्सिडीज से घूम रहे चीफ इंजीनियर, पूछा किसकी है तो हुए रफूचक्कर

भिंड। |  सर्किट हाउस पर उस समय सब हक्का बक्का रहे गए जब जल संसाधन विभाग के चीफ इंजीनियर एनपी कोरी 85 लाख रुपए की मर्सिडीज बैंज कार से पहुंचे| इतनी महंगी लग्जरी कार तो बड़े उद्योगपति या बिजनेसमैन के पास ही देखी जाती है| जब एक सरकारी अधिकारी मर्सिडीज बैंज से उतरा तो सवाल भी लाजमी थे | इसी दौरान कांग्रेस जिलाध्यक्ष डॉ. रमेश दुबे भी सर्किट हाउस पहुँच गए| जब उन्होंने पूछा तो सीई सकपका गए और पहले बोले कि किराए से लेकर आया हूं फिर कार में सवार होकर रवाना हो गए। 

दरअसल, घटिया नहर निर्माण की शिकायतों को लेकर कांग्रेस जिलाध्यक्ष डॉ. रमेश दुबे सर्किट हाउस पहुंचे। जहां जल संसाधन विभाग के चीफ इंजीनियर एनपी कोरी 85 लाख रुपए की मर्सिडीज बैंज कार लेकर आये हुए थे| जिलाध्यक्ष चीफ इंजीनियर से घटिया नहरों के निर्माण की शिकायत करने लगे तो चीफ इंजीनियर ने कहा कि वे अब ग्वालियर नहीं हैं, उनका तबादला तो दतिया हो गया है। जब मर्सिडीज को देखा तो पता चला कि सीई इसी कार से आये हैं| यह देख जिलाध्यक्ष ने चीफ इंजीनियर से कहा कि गाड़ी बड़ी अच्छी है। अंदर से दिखवा दो।  जब उन्होंने पुछा किसकी है तो कहने लगे कि मैं तो किराए पर लेकर आया हूं। जिलाध्यक्ष ने सवाल किया कहां से किराए पर लेकर आए। टैक्सी तो है नहीं। इस पर टैक्सी प्लेट भी नहीं है। खुद को फंसता देखकर चीफ इंजीनियर बोले मेरी नहीं है, जिलाध्यक्ष ने पूछा किसकी है कार इस पर चीफ इंजीनियर ने कहा किसी की भी हो। जिलाध्यक्ष के सवालों और मीडिया के पहुँचते ही सीई कार में सवार होकर निकल गए| वहीं जिलाध्यक्ष ने कार के नंबर को ऑनलाइन चेक कराया तो मर्सिडीज बैंज कार भोपाल की किसी सृष्टि कंस्ट्रक्शन के नाम थी।  उनका इस महंगी कार में आना चर्चा का विषय बना हुआ है| एक तरफ भ्रष्टाचार और ठेकेदारों से सांठगांठ के आरोप लगते हैं वहीं अधिकारी लाखों रुपए की कार में घुमते हैं, यह सामान्य नहीं लगता| कई सवालों को जन्म देता है| 

वीडियो बंसल न्यूज़ के सौजन्य से 



  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...