Breaking News
फ्लॉप रहा कांग्रेस का 'घर वापसी' अभियान, सिर्फ कार्यकर्ता लौटे, नेताओं ने बनाई दूरी | शिवराज कैबिनेट की बैठक ख़त्म, इन प्रस्तावों पर लगी मुहर | सीएम चेहरे को लेकर सोशल मीडिया पर जंग, दिग्विजय भड़के | मुख्यमंत्री के काफिले पर पथराव, महिदपुर- नागदा के बीच की घटना, पुलिस वाहन के कांच फूटे | अब भोपाल में राहुल ने फिर मारी आंख, वीडियो वायरल | एमपी की 148 सीटों पर खतरा, बिगड़ सकता है बीजेपी का चुनावी गणित | LIVE: ऊपर से टपकने वाले को नहीं मिलेगा टिकट : राहुल गांधी | राहुल की सभा में उठी सिंधिया को सीएम कैंडिडेट घोषित करने की मांग | राहुल के भोपाल दौरे पर वीडियो वार..'कांग्रेस हल है या समस्या' | कांग्रेस का शक्ति प्रदर्शन: 11 कन्याओं ने उतारी राहुल की आरती, 21 पंडितों ने किया मंत्रोचार |

बिचौलिए मालामाल.. किसान बदहाल: रमेश दुबे


 भिंड| जिला कांग्रेस के अध्यक्ष रमेश दुबे ने समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी को लेकर सरकार पर तीखे वार किए हैं। दरअसल गेहूं की  समर्थन मूल्य पर खरीदी 26 मई को खत्म हो चुकी है और अब सिर्फ उन किसानों की गेहूं खरीदी की जा रही हैं जिनके पास टोकन है ।हैरत की बात यह है कि इस बार भिंड जिला सूखाग्रस्त है। गेहूं की फसल की सिंचाई में पानी ना मिल पाने के कारण इस बार गेहूं का रकबा घटा है लेकिन इसके बाद भी  उत्पादन कैसे बढ़ गया ,यह अपने आप में सबसे बड़ा सवाल है ।

रमेश दुबे का आरोप है कि बिचौलियो, व्यापारी और पड़ोसी राज्यों  के व्यापारियो ने 265 रू प्रति क्विन्टल समर्थन मूल्य बोनस मिलने की घोषणा के वक्त से पहले से तैयारी कर ली थी और इसीलिए इस बार ज्यादा किसानों के पंजीयन कराए गए ।ऐसे में जाहिर सी बात है कि बजाय किसान को लाभ मिलने के यह बोनस का पैसा बिचौलियों और व्यापारियों के खातों में गया। रमेश दुबे ने आरोप लगाया कि भिंड जिले में भाजपा के कुछ नेताओं ने ऐसा काकस बनाया हुआ है जो इस पूरे काम को अंजाम देता है और समर्थन मूल्य की राशि बजाय किसान के खाते में जाने के इसका लाभ व्यापारी और बिचौलिए उठा रहे हैं। रमेश दुबे ने इस पूरे मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है।

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...