कांग्रेस की इस सीट को भेदने के लिए बीजेपी उतारेगी ब्राह्मण चेहरा!

भोपाल/भिंड। मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी में दावेदारों के लिए मंथन जारी है। प्रदेश के भिंड जिले की अटेर विधानसभा को फतेह करने के लिए बीजेपी इस बार पूरा जोर लगा रही है। उप चुनाव में सीएम शिवराज सिंह चौहान खुद इस सीट के लिए मैदान में उतरे लेकिन जीत नहीं दिला पाए। इस सीट पर कांग्रेस का कब्जा है। यहां से पूर्व नेता प्रतिपक्ष स्व. सत्यदेव कटारे के बेटे हेमंत कटारे पहली बार उप चुनाव में जीते। हालांकि, बीजेपी की हार का प्रतिशत यहां से इस बार कम था। 

दरअसल, अटेर विधानसभा सीट पर उम्मीदवार की तलाश जारी है। चर्चा है कि भाजपा इस बार अपनी योजना में बदलाव कर किसी ब्राह्मण प्रत्याशी की खोज में है, लेकिन इससे विरोध पनपने की पूरी आशंका नजर आ रही है। भाजपा अब तक इस सीट पर पिछले तीन दशक से क्षत्रिय प्रत्याशियों पर भरोसा जताती रही है और इन्हें ही मैदान में उतारती रही है। जिसके बेहतर परिणाम नहीं मिले तो इस बार इस योजना में बदलाव की चर्चा पार्टी में शुरू हो गई है। 

अगर ऐसा होता है तो इसमें ब्राह्मण प्रत्याशियों की सूची लंबी नहीं है इसमें सिर्फ दो नाम मुख्य हैं, जबकि क्षत्रिय प्रत्याशियों की बात करें तो सूची लंबी है और मुख्य नाम सिर्फ तीन बताए जा रहे हैं। भाजपा के इन संभावित प्रत्याशियों में ब्राह्मण व क्षत्रिय उम्मीदवारों की सूची में यह पांचों नाम मजबूत हैं और चुनाव में दमखम से उतर सकते हैं। 

इन नामों पर बन सकती है सहमति

अगर ब्राह्मण प्रत्याशियों को मैदान में उतारने का फैसला पार्टी करती है तो पूर्व मंत्री राकेश सिंह चतुर्वेदी और विजय दैपुरिया का नाम सामने आया है। जबकि क्षत्रिय प्रत्याशियों में अरविन्द सिंह भदौरिया, उमेश सिंह भदौरिया, मुन्ना सिंह भदौरिया प्रमुख दावेदार हैं। और इन्हीं नामों में से किसी एक को इस बार अटेर से चुनाव लड़ने का मौका मिल सकता है। अब देखना यह है कि संगठन ब्राह्मण या क्षत्रिय उम्मीदवार में से किसको मौका देता है।