रमजान में रूह अफजा से गला तर नहीं कर पाएंगे रोजेदार

 भोपाल। भीषण गर्मी और रमजान के पवित्र महीने में लोगों के पसंदीदा शरबत रूह अफजा की तंगी से लोग परेशान हैं और सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी इसकी खूब चर्चा हो रही है| भारत में ज्यादातर मुस्लिम इफ्तारी के समय रूह अफजा शरबत पीते हैं| लेकिन इस बार बहुत से लोग इस मीठे शरबत से महरूम हैं| भोपाल के बाजारों सहित पूरे देश के बाजारों में बीते समय से इसकी कमी चल रही है और इस कमी का मुख्य कारण बताया जा रहा है हमदर्द फाउंडर हकीम हाफिज अब्दुल मजीद के पोते अब्दुल मजीद और उनके चचेरे भाई हामिद अहमद के बीच कंपनी पर कब्जे को लेकर विवाद चल रहा है|

हालांकि हमदर्द कंपनी के मार्केटिंग ऑफिसर ने ऐसे किसी भी विवाद से साफ मना कर दिया है| उनका कहना है कि शरबत के लिए प्रयोग होने वाले कुछ हर्बल सामानों की सप्लाई में कमी होने के कारण शरबत के मैन्युफैक्चरिंग में थोड़ा रूकावट आया है| उन्होने बताया कि शरबत के लिए कई महीनों का कच्चा माल इकठ्ठा करके रखा जाता है| लेकिन इस बार कुछ कमी हो गई है| क्योंकि जिन प्रोडक्ट का इस्तेमाल किया जाता है वो सामान्य रूप से उपलब्ध नहीं होते हैं| लेकिन एक हफ्ते के अंदर हमे विश्वास है कि सप्लाई-डिमांड को पूरा कर दिया जाएगा| बता दें कि गर्मियो में हमदर्द के रूह अफजा की बिक्री 25 फीसदी बढ़ जाती है| 

"To get the latest news update download the app"