लेडी अफसर को कुचलने की कोशिश करने वाले माफिया की नहीं हुई गिरफ्तारी

भोपाल। पन्ना जिले में रेत माफिया इतना प्रभावशाली है कि महिला अफसर को डंपर से कुचलने की कोशिश करने का मामला दर्ज होने के बाद भी पुलिस गिरफ्तार नहीं कर सकी है। जबकि माफिया जिले में ही खुलेआम घूम रहा है। महिला अफसर न्याय के लिए कलेक्टर मनोज खत्री एवं पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी के चक्कर काट रही है, लेकिन दोनों ही अफसर महिला अफसर की शिकायत को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। 

पन्ना जिले की अजयगढ़ एसडीएम आयुषी जैन ने दो दिन पहले घटना के बाद कलेक्टर को पत्र भेजकर खनन माफिया पर कार्रवाई करने में लेतलाली करने वाले अजयगढ़ एसडीओपी और थाना प्रभारी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। जब वे शुक्रवार को पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी के पास न्याय की गुहार लेकर पहुंची तो एसपी ने यह कहकर महिला अधिकारी को वापस लौटा दिया कि वे फिर से आवेदन प्रस्तुत करें। महिला अधिकारी आयुषी जैन ने पुलिस अधीक्षक पन्ना को आज फिर पत्र प्रस्तुत कर शासकीय कार्य में सहयोग नहीं करने वाले पुलिस अधिकारी एवं डंपर से कुचलने की कोशिश करने वाले रेत माफिया भरत मिलन पांडेय के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। इस संबंध में पन्ना जिले के कलेक्टर एवं एसपी ने कोई चर्चा नहीं की। 


...तो आम महिला की सुनवाई कैसे होती

प्रदेश में खनन माफिया हमेशा से प्रशासन पर हावी रहा है। पूर्व में शिवराज सरकार में भी माफिया ने अफसरों पर हमले किए हैं। कमलनाथ सरकार माफिया खत्म करने का दावा कर रही है, लेकिन पन्ना की घटना ने सरकार के दावों की पोल खोल दी है। घटना के दो दिन बाद भी पुलिस महिला अफसर को कुचलने की कोशिश करने वाले को गिरफ्तार नहीं कर सकी है। महिला अधिकारी न्याय के लिए जिला अधिकारियों के चक्कर काट रही है। ऐेसे में सवाल उठता है कि राज्य प्रशासन सेवा की महिला अधिकारी को न्याय के लिए चक्कर काटना पड़ रहे हैं तो फिर आम महिला की सुनवाई कैसे होती होगी। खास बात यह है कि यह मामला प्रदेश के आला अधिकारी, पुलिस मुख्यालय के संज्ञान में भी है। 


कांग्रेस का नेता है आरोपी

पुलिस ने महिला अधिकारी की शिकायत पर जिस भरत मिलन पाण्डेय केा आरेापी बनाया है, वह कांग्रेस का नेता है। वह अजयगढ़ जनपद का अध्यक्ष भी है। यही वजह है कि जिले के अधिकारी महिला अधिकारी की शिकायत पर सिर्फ खानापूर्ति कर रहे हैं। 


उस मामले में एफआईआर दर्ज हो चुकी है। वाहन को जब्त कर लिया गया है। कार्रवाई हो रही है। 

मनोहर लाल दुबे, संभागायुक्त, सागर 

"To get the latest news update download the app"