पत्नी पर फैकने के लिए 200 में खरीदा एसिड, 15 दिन से कर रहा था हमले की प्लानिंग

भोपाल। पत्नी पर एसिड अटैक करने वाले आरोपी ने पुलिस पूछताछ में चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। उसने बताया कि वह बीते 15 दिनों से पत्नी पर हमला करने की फिराक में था। हमले में इस्तमाल एसिड उसने दो सप्ताह पहले कलेक्टोरेट के पास में स्थित एक झुग्गी बस्ती से ठेले वाले से दो सौ रूपए में खरीदा था। पुलिस आरोपी से ठेले वाले के संबंध में जानकारी जुटा रही है। एसिड बेचने वाले के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। 

टीआई शिवपाल सिंह कुशवाह के अनुसार आरोपी बाबूलाल सोनी (40)को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसका एक हाथ और पैट भी एसिड गिरने से झुलस गई है। उसने पूछताछ में एसिड को दो सप्ताह पहले दो सौ रूपए में अपने घर के पास में एक ठेले वाले से खरीने की बात कही है। हालांकि उसकी बात गले से नहीं उतर रही है। एसिड अतिरिक्त छमता वाला था, जिससे महिला गंभीर रूप से झुलसी है। आम एसिड और फिनायल से इस हद तक महिला नहीं झुलसती। पूछताछ में बदमाश ने पत्नी के चरित्र पर संदेह की भी बात स्वीकार की है। इसी बात को लेकर दोनों के बीच में अकसर विवाद होते थे। उल्लेखनीय है कि अनुसार 31 वर्षीय पीडि़ता मंगला सोनी द्वारका नगर स्टेशन बजरिया क्षेत्र में रहती है। वह हमीदिया रोड स्थित कान्हा ट्रैडिंग कंपनी में आफि स वर्क करती है। उक्त कंपनी बैरिंग बनाने का काम करती है। वहीं 40 वर्षीय आरोपी पति बाबूलाल सोनी कोहेफिजा स्थित झुग्गी बस्ती में रहता है। वह एक होटल में बतौर कुक काम करता है। दोनों की शादी को 15 साल बीत चुके हैं। दोनों के दो लड़के एक लड़की कुल तीन बच्चे हैं। तीनों बच्चे फिलहाल पीडि़ता के साथ रह रहे हैं। वही उनकी देखरेख करती है। आरोपी पति शराब पीने का आदी है। नशे में धुत होकर आए दिन पीडि़ता के साथ में विवाद करता था। आए दिन की हरकतों से तंग आकर महिला आरोपी से अलग रह रही थी। एक महीने पहले पीडि़ता ने आरोपी को तलाक के लिए नोटिस भेजा था। तभी से बदमाश पत्नी को कॉल कर धमकाता था। तलाक न देने का दबाव बनाता था। उसके चरित्र को लेकर अभद्र टिप्पणियां करता था। आरोपी उसके चरित्र पर भी संदेह करता था। नोटिस मिलने से नाराज होकर उसने वारदात को अंजाम दिया है।


- बस से आया था बदमाश

बताया जा रहा है कि आरोपी बाबूलाल सोनी पीडि़ता पर हमला करने के लिए बस में सवार होकर आया था। वह स्टेशन की ओर से बस से आया और मनोहर डेयरी के सामने खड़ा होकर करीब दो घंटे तक महिला का इंतजार करता रहा। महिला के आने के बाद में उसने रोककर तलाक न देने को लेकर कई मिनट तक हंगामा किया। आरोपी को महिला के आने और जाने का समय मालूम था। महिला ने आरोपी से बात करने से इनकार कर दिया। वह पलट कर पैदल आगे बढ़़ी, इसी बीच आरोपी ने पीछे से उस पर बॉटल में भरा ऐसिड फैंक दिया। जिससे महिला का चहरा,पीठ और जांघ बुरी तरह से झुलस गई है। एसिड की कुछ बंूदे खुद आरोपी पर भी गिरी हैं। जिससे वह भी झुलस गया है। भागने का प्रयास करते समय उसे भीड़ ने दबोच लिया था। जिसके बाद में उेस पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया गया।


- पुलिस ने ऑटो से अस्पताल पहुंचाया

घटना थाने से महज दो सौ मीटर की दूरी पर हुई थी। वारदात की जाकनारी मिलते ही एफआरवी स्टॉफ सहित टीआई शिवपाल कुशवाह, एसआई प्रवीण ठाकरे और एसआई घुमेंद्र सिंह हमराह स्टॉफ के साथ मौके पर पहुंच गए थे। करीब 10 मिनट तक जब 108 मौके पर नहीं पहुंची तो एसआई ठाकरे व एसआई घुमेंद्र सिंह महिला को ऑटो से अस्पताल के लिए रवाना हुए। पीछे से एफआरवी स्टॉफ वह टीआई आपने वाहन से रवाना हुए। पुलिस की एक टीम ने आरोपी को भी भीड़ से बचाया और अस्पताल पहुंचाया। वहीं रास्ते में महिला के जख्मो पर पुलिस लगातार साफ पानी का ढाल करती रही। जिससे जख्म फैलने से रुका। समय पर उपचार मिलने से महिला की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। 

"To get the latest news update download the app"