34 हजार वोटों से इस सीट पर जीती थी कांग्रेस, अब बीजेपी इन चेहरों पर लगा रही दांव

भोपाल। विधानसभा चुनाव को लेकर आचार संहिता लगते ही टिकट पाने की दौड़ तेज हो गई है। सभी दलों में प्रत्याशियों के चयन को लेकर माथा-पच्ची देखने को मिल रही है। ग्वालियर जिले की दो विधानसभा डबरा और भितरवार में भाजपा इस बार कमल खिलाने के लिए ऐढ़ी-चोटी का जोर लगा सकती है। इन दोनों विधानसभाओं पर फिलहाल कांग्रेस का कब्जा है। इन दोनों विधानसभा से भाजपा में टिकटों को लेकर अटकलें शुरू हो गई है।

ग्वालियर जिले की डबरा विधानसभा जो कि पिछले दस साल से अनुसूचिज जाति के लिए आरक्षित है। यहां से वर्तमान में कांग्रेस की इमरतीदेवी विधायक है। इमरती देवी यहां से दूसरी बार विधायक बनीं है। पिछली बार इनकी जीत का अंतर जिले में सबसे ज्यादा था। इन्होंने भाजपा के प्रत्याशी सुरेश राजे को करीब 34 हजार बोटों से हराया था। कांग्रेस की ओर से तीसरी बार इमरती देवी का टिकट पक्का बताया जा रहा है। 

पिछले दस साल से डबरा में कमल नहीं खिल सका है। डबरा में नगरपालिका उपचुनाव में पहली बार भाजपा प्रत्याशी आरती मौर्य ने जीत दर्ज कराई। भाजपा डबरा में इस बार हाल में कमल खिलाने के लिए गणित लगा रही है। हालांकि इस सीट से प्रबल दावेदारों में डबरा नगर पालिका अध्यक्ष आरती मौर्य एवं प्रदेश कार्यसमिति सदस्य कप्तान सिंह सहसारी का नाम बताया जा रहा है। इस सीट से भाजपा से ही आधा दर्जन दावेदार टिकट के लिए ताल ठोकते नजर आ रहे हैंं। सूत्रों की माने तो डबरा विधानसभा से टिकट को लेकर एक ओर नाम की चर्चा जोरों पर है। वह नाम सिंचाई विभाग दतिया में चीफ इंजीनियर एन पी कोरी का है। इंजीनियर एनपी कोरी इससे पूर्व ग्वालियर इरीगेशन में चीफ इंजीनियर थे। कुछ समय पूर्व वे ही उन्होंने दतिया का चार्ज संभाल है।