उम्मीदवारों को देना होगी यह जरूरी जानकारी, नहीं तो हो सकती है कार्रवाई

भोपाल। सोशल मीडिया पर प्रचार-प्रसार को लेकर चुनाव आयोग लगातार मतदाताओं और उम्मीदवारों जानकारी दे रहा है, कि उसका किस तरह उपयोग करना है। आज की तारिख में सबसे सस्ता और तेज प्रचार का माध्यम सोशल मीडिया है। चुनाव आयोग भी इसको लेकर गंभीर दिखाई दे रहा है। इसलिए इसका सही उपयोग हो और लोगों को सही जानकारी पहुंचे इसके लिए नितनए प्रयोग भी कर रहा है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय भोपाल के संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी आईटी सेल विकास नरवाल ने बताया कि सोशल मीडिया का उपयोग करने पर सरकारी अधिकारी व कर्मचारियों को काफी संभलकर करना है। 

वहीं जो भी इन चुनाव में उम्मीदवार बनता है उसे भी सोशल मीडिया के बारे में पूरी जानकारी देनी होगी। उसे यह बताना होगा कि वह कीतने वाट्सग्रुप से जुड़ा है, उसका फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब व अन्य कोई भी सोशल साइट पर यदि आईडी है तो उसे पूरी जानकारी देना होगी। यदि जानकारी सही नहीं पाई गई तो कार्रवाई भी की जा सकती है। उन्होंने बताया कि विज्ञापन कहीं और बनवाया और उस पर प्रींटिंग प्रेस की जानकारी नहीं दी तो भी यह गलती मानी जाएगी और चुनाव आयोग इस पर संज्ञान लेगा। साथ ही विज्ञापन सोशल मीडिया पर हो या किसी अखबार में सभी का रेट एक जैसे ही रहेगा।