पत्नी ने भेजा तलाक का नोटिस, पति ने सरे बाजार रोका और डाल दिया एसिड

भोपाल। फराज़ शेख| राजधानी में सोमवार रात पौने आठ बजे एक पति ने अपनी पत्नी पर एसिड अटैक कर दिया। वारदात को तलाक का नोटिस भेजने से नाराज होकर अंजाम दिया गया है। हमले में महिला का चेहरा, पीठ और जांघ गंभीर रूप से झुलसी है। मामले में पुलिस ने एसिड अटैक का प्रकरण दर्ज कर लिया है। आरोपी घटना के वक्त नशे की हालत में था। जिसे वारदात के तत्काल बाद भीड़ ने दबोच लिया था। पब्लिक ने उसकी जमकर धुनाई कर दी। घायल हालत में उसे उपचार के लिए हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं महिला का भी इलाज चल रहा है। अस्पताल में आरोपी को पुलिस ने कस्टडी में ले लिया है।

जानकारी के अनुसार 31 वर्षीय पीडि़ता द्वारका नगर स्टेशन बजरिया क्षेत्र में रहती है। वह हमीदिया रोड स्थित कान्हा ट्रैडिंग कंपनी में आफिस वर्क करती है। उक्त कंपनी बैरिंग बनाने का काम करती है। वहीं 35 वर्षीय आरोपी पति बाबूलाल सोनी छोला मंदिर इलाके में रहता है। वह एक होटल में बतौर कुक काम करता है। दोनों की शादी को 15 साल बीत चुके हैं। दोनों के दो लड़के एक लड़की कुल तीन बच्चे हैं। तीनों बच्चे फिलहाल पीडि़ता के साथ रह रहे हैं। वही उनकी देखरेख करती है। आरोपी पति शराब पीने का आदी है। नशे में धुत होकर आए दिन पीडि़ता के साथ में विवाद करता था। आए दिन की हरकतों से तंग आकर महिला बीते कई महीनों से आरोपी से अलग रह रही थी। एक महीने पहले पीडि़ता ने आरोपी को तलाक के लिए नोटिस भेजा था। तभी से बदमाश पत्नी को कॉल कर धमकाता था। तलाक न देने का दबाव बनाता था। उसके चरित्र को लेकर अभद्र टिप्पणियां करता था। आरोपी उसके चरित्र पर भी संदेह करता था। नोटिस मिलने से नाराज होकर उसने वारदात को अंजाम दिया है।


- बस से आया था बदमाश

बताया जा रहा है कि आरोपी बाबूलाल सोनी पीडि़ता पर हमला करने के लिए बस में सवार होकर आया था। वह स्टेशन की ओर से बस से आया और मनोहर डेयरी के सामने पीडि़ता को रोक लिया। जहां उसने तलाक न देने को लेकर कई मिनट तक हंगामा किया। आरोपी को महिला के आने और जाने का समय मालूम था। हमले से पूर्व उसने महिला को कॉल कर उसकी लोकेशन ली थी। हंगामे के बाद में महिला ने आरोपी से बात करने से इनकार कर दिया। वह पलट कर पैदल आगे बड़ी, इसी बीच आरोपी ने पीछे से उस पर बॉटल में भरा ऐसिड फैंक दिया। जिससे महिला का चहरा,पीठ और जांघ बुरी तरह से झुलस गई है। एसिड की कुछ बूँदें खुद आरोपी पर भी गिरी हैं। जिससे वह भी झुलस गया है। भागने का प्रयास करते समय उसे भीड़ ने दबोच लिया था। जिसके बाद में उेस पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया गया।


- पुलिस का मानवीय चेहरा 

घटना थाने से महज दो सौ मीटर की दूरी पर हुई थी। वारदात की जाकनारी मिलते ही एफआरवी स्टॉफ सहित टीआई शिवपाल कुशवाह, एसआई प्रवीण ठाकरे और एसआई घुमेंद्र सिंह हमराह स्टॉफ के साथ मौके पर पहुंच गए थे। करीब 10 मिनट तक जब 108 मौके पर नहीं पहुंची तो एसआई ठाकरे व एसआई घुमेंद्र सिंह महिला को ऑटो से अस्पताल के लिए रवाना हुए। पीछे से एफआरवी स्टॉफ वह टीआई आपने वाहन से रवाना हुए। पुलिस की एक टीम ने आरोपी को भी भीड़ से बचाया और अस्पताल पहुंचाया। वहीं रास्ते में महिला के जख्मो पर पुलिस लगातार साफ पानी का ढाल करती रही। जिससे जख्म फैलने से रुका। समय पर उपचार मिलने से महिला की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। 


- इनका कहना है

पीडि़ता को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। आरोपी के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया गया है। प्राथमिक जांच में तालाक का नोटिस भेजने से नाराज होकर एसिड अटैक किए जाने की बात सामने आई है।

मनु व्यास, एएसपी, जोन-3


आरोपी ...


"To get the latest news update download the app"