जावेद अख्तर का बुर्का और घूंघट वाले बयान पर यूटर्न, ट्विटर पर दी सफाई

भोपाल। मशहूर गीतकार जावेद अख्तर गुरूवार को अपने बुर्का और घूंघट प्रतिबंध वाले बयान से आज पलट गए हैं| अख्तर ने आज ट्वीटर पर एक ट्वीट कर सफाई देते हुए कहा है कि 'कुछ लोगो ने मेरे बयान को बिगाड़ने का प्रयास किया है, मैंने कहा था कि हो सकता है श्रीलंका में सुरक्षा के लिहाज से इसे बैन किया गया हो पर वास्तव में ये महिलासशक्तिकरण के लिए जरूरी है| चेहरा का ढकना बंद होना चाहिए चाहे वो बुर्का हो या घुंघट' 

दरअसल गुरूवार को राजधानी में उन्होेने मीडिया से बातचीत करने के दौरान कहा था कि देश में बुर्का पहनने पर प्रतिबंध लगने से उन्हें कोई आपत्ति नहीं है| लेकिन केंद्र सरकार राजस्थान में लोकसभा सीटों के लिए 6 मई को होने वाले मतदान से पहले घूंघट प्रथा पर भी प्रतिबंध लगाए,उनके इस बयान के आने के बाद राजनैतिक गलियारो में हड़कंप मच गया था| लेकिन आज वो खुद ही अपने दिए हुए बयान से पलट गए है....

जावेद अख्तर भोपाल लोकसभा सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार दिग्विजय सिंह के प्रचार के लिए भोपाल आए थे|  जहां उन्होने ना केवल बुर्का और घूंघट पर बात की बल्कि बीजेपी की उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर पर भी वो जमकर बोले...उन्होंने कहा कि बीजेपी ने शायद मजबूरी में साध्वी प्रज्ञा को भोपाल सीट पर अपना उम्मीदवार बनाया| अख्तर ने बीजेपी के शासन में  लोकतंत्र पर कई सवाल उठाए| उन्होने कहा कि भाजपा की विचारधारा है कि जो उनके साथ नहीं वो एंटी नेशनल होता है|  अख्तर ने कहा इस बार का लोकसभा चुनाव देश के लिए बेहद महत्वपूर्ण है| क्योंकि यह चुनाव ही तय करेगा कि मुल्क किस रास्ते पर जा रहा है.....देश में कई मोदी आएंगे और चले जाएंगे.... पर देश है और हमेशा रहेगा।



"To get the latest news update download the app"