किरकिरी के बाद जिन्ना वाले बयान पर बीजेपी प्रत्याशी का यू टर्न

भोपाल। झाबुआ विधायक और रतलाम लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी गुमानसिंह डामोर ने हाल ही में जिन्ना को लेकर दिए बयान पर पलटी मार ली है। उन्होंने खुद के बचाव में कहा कि जिन्ना नहीं बल्कि सरदार वल्लभ भाई पटेल को देश का पहला प्रधानमंत्री बनाने की बात कही थी। दरअसल, डामोर के बयान को विपक्ष ने मुद्दा बना लिया था। सोशल मीडिया में उनकी जमकर आलोचना हो रही थी। पार्टी के दबाव में उन्होंने सरदार पटेल से जोड़कर नया बयान जारी कर दिया है। 

डामोर के अनुसार भाषण को तोड़-मरोड़ दिया गया, जबकि भाषण में डामोर स्पष्ट रूप से जिन्ना के गुणगान करते दिख रहे थे। कांग्रेस प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया ने कहा है कि विशेष विमान से डामोर को पाकिस्तान भेजना चाहिए। उन्होंने अपना पाकिस्तान प्रेम झलकाया है। जिन्ना प्रेम दिखाने पर आडवाणी जैसे नेता को भी भाजपा ने नहीं छोड़ा था। अब भाजपा डामोर के खिलाफ क्या करेगी? यहां बता दें कि डामोर ने चुनावी सभा में कहा था कि मोहम्मद अली जिन्ना विद्वान व्यक्ति थे। नेहरू ने जिद करते हुए उन्हें प्रधानमंत्री नहीं बनने दिया। इससे देश का विभाजन हुआ है। जिन्ना प्रधानमंत्री बन गए होते तो देश का विभाजन नहीं होता और कश्मीर समस्या भी नहीं होती। 

"To get the latest news update download the app"