मंत्री बोले-'प्रज्ञा को निष्कासित करे बीजेपी, दर्ज हो देशद्रोह का मामला'

भोपाल। बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा के नाथूराम गोड़से को लेकर दिए गए बयान के बाद जमकर बवाल मचा हुआ है। बीजेपी ने इस बयान से किनारा कर लिया है, वहीं चौतरफा घिरी साध्वी ने माफी मांग ली हो, लेकिन कांग्रेस इसे ढा़ल बनाकर जमकर घेराव कर रही है। अब कमलनाथ सरकार में पीएचई मंत्री सुखदेव पांसे ने साध्वी को बीजेपी से निष्काषित करने की बात कही है और देशद्रोह का मामला दर्ज करने की मांग की है| वहीं मप्र के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने आगर मालवा कलेक्टर से जो रिपोर्ट मांगी थी वह उन्होंने सौंप दी है मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांता राव ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि हमने प्रतिवेदन चुनाव आयोग को भेज दिया है। 

दरअसल, आज मीडिया से चर्चा के दौरान पांसे ने साध्वी प्रज्ञा के नाथूराम गोडसे को लेकर दिए बयान को लेकर कहा कि इससे बड़ा दुर्भाग्य क्या हो सकता है जिसे पूरा देश राष्ट्रपिता के नाम से जानता हो उनके हत्यारे को देश भक्त दुर्भाग्यपूर्ण बोलना । चुनाव आयोग को मामला संज्ञान में लेना चाहिए  और साध्वी पर देशद्रोह का मामला दर्ज होना चाहिए ।

वही पांसे ने बढ़ते विवाद के बाद साध्वी द्वारा लिए गए यू टर्न को बीजेपी का दोगला चरित्र बताया है।पांसे ने कहा कि बीजेपी को साध्वी प्रज्ञा को पार्टी से निष्कासित करना चाहिए। महात्मा गांधी देश ही नही विश्व की महानतम हस्तियों में से है। पूरा विश्व उनके शांति के पैगाम ओर विचार को मानता है। इधर मोदी के मप्र दौरे पर मंत्री ने कहा कि मोदी के भाषणों से देश की जनता ऊब चुकी है,ना रोजगार मिले ना काला धन आया और ना ही मंदिर बना, मोदी सिर्फ जुमलों से सरकार बनाना चाहते हैं।

इधर चुनाव आयोग को रिपोर्ट तलब

इधर साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को राष्ट्रभक्त बताने के मामले में चुनाव आयोग ने रिपोर्ट तलब कर ली है। साध्वी के बयान से मचे सियासी बवाल के बाद मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय ने आगर मालवा कलेक्टर को तत्काल रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं। इसमें पूरे घटनाक्रम का ब्यौरा मांगा गया है। प्रतिवेदन चुनाव आयोग को भेजा जाएगा।वहीं मप्र के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने आगर मालवा कलेक्टर से जो रिपोर्ट मांगी थी वह उन्होंने सौंप दी है मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांता राव ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि हमने प्रतिवेदन चुनाव आयोग को भेज दिया है।

क्या था साध्वी का बयान

 गुरुवार को प्रज्ञा ने नाथूराम गोडसे को देशभक्‍त बताया था। प्रज्ञा ने कहा था कि नाथूराम गोडसे देशभक्‍त थे, देशभक्‍त हैं और देशभक्‍त रहेंगे। नाथूराम गोडसे को आतंकवादी कहने वाले लोग अपने गिरेबां में झांक कर देखें. ऐसे लोगों को इस चुनाव में जवाब दे दिया जाएगा।हालांकि देर रात बीजेपी के कहने पर उन्होंने अपने इस बयान पर माफी मांग ली थी। प्रज्ञा ने ट्वीट किया मैं नाथूराम गोडसे के बारे में दिये गए मेरे बयान के लिये देश की जनता से माफ़ी माँगती हूँ ।मेरा बयान बिलकुल ग़लत था. मैं राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी का बहुत सम्मान करती हूँ।वही इस मामले को आयोग ने संज्ञान में लिया और रिपोर्ट मांगी। 





"To get the latest news update download the app"