सन्यासी हूं कोई मंदिर जाने से रोकेगा,तो वो अपने जीवन के बारे में सोचे- साध्वी प्रज्ञा

भोपाल। लोकसभा चुनाव के लेकर भोपाल में जंग तीखी हो गई है| 72 घंटे के बैन के बाद आज साध्वी प्रज्ञा फिर से धुआं धार प्रचार पर निकलीं...और प्रचार की शरुआत भी प्रज्ञा ने माता मंदिर में पूजा अर्चना कर की| वहीं 72 घंटे बाद मैदान में पहुंची साध्वी ने कहा कि ये बैन उनके लिए शुभ रहा...साथ ही कविता गाकर उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधा| कहा कि क्या मुझको रोक सकेंगे, मिटने वाले मिट जाएँ,..कंकड़ पत्थर की हस्ती क्या जो बाधा बनकर आएँ,..वहीं साध्वी प्रज्ञा ने कांग्रेस के 72 के बैन के बाद कहा कि दुश्मन सोचते हैं कि उन्होंने चाल चल ली..लेकिन होता वही है जो प्रभु चाहता है| 

इससे पहले मीडिया से रुबरु होते हुए साध्वी प्रज्ञा के कड़े स्वर फिर देखने को मिले और साध्वी ने बैन के बाद भी मंदिर जाने पर चुनाव आयोग के नोटिस पर साध्वी प्रज्ञा ने बड़ा बयान दिया कि कहा "मैं सन्यासी हूँ,मंदिर मेरा जीवन है-जो इसे रोके,वो अपने जीवन के बारे में सोचे.."

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर पर चुनाव आयोग ने 2 मई को 72 घंटे के लिए चुनाव प्रचार पर बैन लगा दिया था| चुनाव आयोग ने साध्वी पर करकरे और बाबरी मजिद को लेकर दिए बयान के बाद कार्रवाई की थी| 

"To get the latest news update download the app"