Breaking News
अखिलेश बनाएंगे नई टीम, चुनाव से पहले सपा में शामिल हो सकते हैं कई दिग्गज नेता | शिवराज को रास नहीं आई राहुल-मोदी की 'झप्पी' | राहुल ने संसद में आंख मारी तो सोशल मीडिया पर आ गया 'भूकंप' | ICAI Results 2018: CA-CPT का रिजल्ट घोषित, एमपी के पलाश ने मारी बाजी | उद्योगपति के घर 8 लाख की चोरी, पीछे का ग्रिल तोड़कर घुसे बदमाश | तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव में भोपाल होगा राजनीति का केंद्र, शाह यही डालेंगे डेरा | एक बार फिर बुआ-भतीजा आमने-सामने | PHE के रिटायर्ड अधिकारी से ठगी, ATM बदलकर निकाले डेढ़ लाख रूपये | GOOD NEWS : अब रानी दुर्गावती यूनिवर्सिटी के कर्मचारी भी होंगें 62 में रिटायर | CM ने एक क्लिक में प्रदेश के 46 हजार छात्रों के बैंक खातों में ट्रांसफर किए 113 करोड़ रुपए |

101 डिप्टी कलेक्टरों को सरकार ने एक साथ किया रिलीव, वेतन आहरण पर लगाई रोक

भोपाल। राज्य सरकार ने राज्य प्रशासनिक सेवा के 101 अफसरों को  एकसाथ कार्यमुक्त कर दिया है। साथ ही 16 जुलाई तक हर हाल में नई जगह ज्वाइन करने को कहा है। सरकार ने सभी अफसरों के मौजूदा पदस्थापना स्थल से वेतन निकालने पर रोक लगा दी है। 

राज्य शासन ने 30 जून को राज्य प्रशासनिक सेवा के 106 अफसरों के तबादला आदेश जारी किए थे। इनमें से अधिकांश अफसरों ने नई पदस्थापना वाली जगह पर आमद नहीं दी है। हाल ही में चुनाव आयोग ने राज्य सरकार को निर्देशित किया है कि 3 साल से जमे अफसरों को हटाया जाए। इसके बाद राज्य सरकार ने पूर्व में स्थानांतरित हो चुके राज्य प्रशासनिक सेवा के अफसरों को एकसाथ कार्यमुक्त करने का आदेश जारी कर दिया है। आदेश में स्पष्ट कहा है कि 12 जुलाई के बाद  इन अफसरों को वर्तमान पदस्थापना वाले जिले में वेतन का भुगतान नहीं किया जाए। यदि वेतन का आहरण किया जाता है तो कोषालय अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 


सरकार ने इसलिए लिया एक्शन 

चुनाव आयोग ने पूर्व में 30 जून तक अफसरों के तबादला करने को कहा था, बाद में 30 सितंबर तक का समय दिया गया। इससे पहले राज्य सरकार बड़ी संख्या में चुनाव तक 3 साल पूरा कर रहे अफसरों का तबादला आदेश जारी कर दिया। ये अधिकारी भी 30 सितंबर तक रिलीव नहीं होने की फिराक में थे। यही वजह रही कि चुनाव आयोग ने अफसरों को एक साथ कार्यमुक्त कर दिया ।


देखिये सूची