अपनों के विरोध से परेशान कांग्रेस, अनुशासन की सीमा लांघ रहे नेता

भोपाल। प्रदेश में कांग्रेस संगठन और सरकार के बीच तालमेल नहीं बैठ रहा है। यही वजह है कि कांग्रेस के नेता अनुशासन की सीमा लांघ रहे हैं और मंत्रियों का खुलकर विरोध हो रहा है। मंत्री भी पार्टी नेताओं पर अवैध वसूली के आरोप लगा रहे हैं। हाल ही में कांग्रेस कार्यकर्ता और मंत्रियों के बीच का विवाद खुलकर सामने आया है। ऐसा तब हो रहा है जब अनुशासनहीनता को लेकर सख्त हिदायत दी जा रही है| 

भिंड के बाद सीहोर में आरिफ अकील का विरोध

अवैध उत्खनन को लेकर बदनाम भिंड एवं सीहोर जिले के प्रभारी मंत्री रेत के उत्खनन को लेकर एक बार फिर विवादों में है। पिछले महीने भिंड जिले के कांग्रेस नेताओं ने प्रभारी मंत्री आरिफ अकील पर गंभीर आरोप लगाए औेर रेत में उनकी फोटो गाढ़कर विरेाध प्रदर्शन किया था। मामला ठंडा भी नहीं हुआ अकील के खिलाफ सीहोर जिले के पार्टी कार्यकर्ता भी लामबंद हो गए हैं। रविवार को सीहोर जिला कांगे्रस के कार्यकारी अध्यक्ष राहुल यादव के अकील का विरोध किया। साथ ही उन पर अवैध उत्खनन कराने के आरोप भी लगाए। इससे पहले अकील ने सीहोर के जिला खनिज अधिकारी का बचाव करते हुए कहा कि पार्टी नेता उनसे पैसा मांगते हैं, इसलिए खनिज अधिकारी की शिकायत की है। 

ग्वालियर में सिंघार का विरोध

लंबे समय बाद ग्वालियर पहुंचे प्रभारी मंत्री उमंग सिंघार को भी पार्टी नेता एवं कार्यकर्ताओं के विरोध का सामना करना पड़ा। वे जिला कांग्रेस की बैठक में पहुंचे थे। तभी कांग्रेस के एक खेमे ने सिंघार का विरोध किया । यहां तक कुछ कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी भी की। इसके बाद मंत्री बैठक से उठकर जिलापदाधिकारी के कक्ष में पहुंचे। वहां उन्होंने मंत्री लाखन सिंह यादव समेत अन्य नेताओं के साथ बैठक की। 

शिवपुरी में जयवर्धन से किया सिंधिया समर्थकों ने किनारा

नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह पहली बार शिवपुरी प्रवास पर गए थे। जहां सिंधिया समर्थक नेताओं ने उनसे दूरी बना ली। नगर पालिका अध्यक्ष मुन्नालाल कुशवाह भी  जयवर्धन के कार्यक्रम में नहीं पहुंचे। मंत्री के प्रवास के दौरान कांग्रेस नेताओं की गुटबाजी चर्चा का विषय रही। 

बावरिया के सामने नारेबाजी

राजधानी भोपाल में भी कांग्रेस नेता अनुशासन की सीमाएं लांघते दिखे। रविवार केा प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया की मौजूदगी में विधायक आरिफ मसूद एवं उनके समर्थकों ने नारेबाजी की। जिस पर बावरिया ने नारोजगी जाहिर की। बावरिया को यहां तक कहना पड़ा कि प्रदेश कांगे्रस में अलग से नारेबाजी सेल बना देना चाहिए। 

"To get the latest news update download the app"