Breaking News
दागियों का कटेगा टिकट, साफ-सुथरी छवि के नेताओं को चुनाव में उतारेगी भाजपा | फ्लॉप रहा कांग्रेस का 'घर वापसी' अभियान, सिर्फ कार्यकर्ता लौटे, नेताओं ने बनाई दूरी | शिवराज कैबिनेट की बैठक ख़त्म, इन प्रस्तावों पर लगी मुहर | सीएम चेहरे को लेकर सोशल मीडिया पर जंग, दिग्विजय भड़के | मुख्यमंत्री के काफिले पर पथराव, महिदपुर- नागदा के बीच की घटना, पुलिस वाहन के कांच फूटे | अब भोपाल में राहुल ने फिर मारी आंख, वीडियो वायरल | एमपी की 148 सीटों पर खतरा, बिगड़ सकता है बीजेपी का चुनावी गणित | LIVE: ऊपर से टपकने वाले को नहीं मिलेगा टिकट : राहुल गांधी | राहुल की सभा में उठी सिंधिया को सीएम कैंडिडेट घोषित करने की मांग | राहुल के भोपाल दौरे पर वीडियो वार..'कांग्रेस हल है या समस्या' |

देर रात हुई चांद की तस्दीक, रमजान का ऐलान, गुरूवार को पहला रोज़ा

भोपाल। माह-ए-रमजान का चांद दिखने की तस्दीक देर रात होने के बाद रुअत-ए-हिलाल कमेटी ने गुरूवार को पहला रोजा रखे जाने का ऐलान किया। राजधानी के आसमान पर चांद न दिखने के बाद कमेटी ने देश के प्रमुख शहरों से तस्दीक के लिए फोन पर चर्चा की, जिसमें देश के कुछ शहरों में चांद दिखाई देने की बात सामने आई। लगातार बैठकों के दौर के बाद काजी-ए-शहर सैयद मुश्ताक अली नदवी ने यह ऐलान किया। इसके मुताबिक गुरूवार को पहला रोजा रखकर रमजान का आगाज किया जाएगा। इससे पहले बुधवार की देर रात शहरभर की मस्जिदों में तरावीह की नमाज अदा की गई। 

बुधवार शाम को मगरिब की नमाज के बाद रुअत-ए-हिलाल कमेटी ने मोती मस्जिद में चांद देखने की रस्म अदा की। शहर काजी सैयद मुश्ताक अली नदवी के साथ शहर के कई उलेमा और शहर के गणमान्य नागरिक इस दौरान मौजूद थे। प्रदेश के अन्य शहरों के अलावा दिल्ली, लखनऊ, हैदराबाद आदि शहरों से भी चांद दिखने की तस्दीक की गई। लेकिन अधिकांश शहरों से चांद न दिखने की खबरें मिलीं। पहले दौर की इस बैठक के बाद कुछ शहरों में चांद दिखने की खबरें आने पर दोबारा शूरा की बैठक शुरू हुई। इसके बाद शहर काजी ने बुधवार रात से तरावीह की नमाज शुरू होने और गुरूवार से रोजा रखे जाने का ऐलान कर दिया। 

शुरू हुई नमाज-ए-तरावीह

रमजान माह में पढ़ी जाने वाली खास नमाज तरावीह की शुरूआत बुधवार देर रात को अदा की गई। राजधानी भोपाल में 5 से लेकर 27 दिनों तक में तरावीह की नमाज पढ़ने का रिवाज है। इस दौरान पूरे कुरान को बाकी नमाजों के अलावा 20 रकअत पढ़ने और सुनने का रिवाज है। रमजान में इस नमाज का खास महत्व माना जाता है। 

तैयारियों में जुटा शहर

गुरूवार से संभावित रमजान और बुधवार शाम से शुरू होने वाली तरावीह के लिए शहर के अकीदतमंद तैयारियों में जुटे दिखाई दिए। शाम को चांद दिखने या न दिखने की तस्दीक और सटीक जानकारी के लिए लोग एक-दूसरे से मोबाइल और सोशल मीडिया पर जानकारी लेते दिखाई दिए।

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...