Breaking News
अधिकारी की कलेक्टर को नसीहत, 'आपकी कार्यशैली पर लज्जा आती है, तबादला करा लें' | दागियों का कटेगा टिकट, साफ-सुथरी छवि के नेताओं को चुनाव में उतारेगी भाजपा | फ्लॉप रहा कांग्रेस का 'घर वापसी' अभियान, सिर्फ कार्यकर्ता लौटे, नेताओं ने बनाई दूरी | शिवराज कैबिनेट की बैठक ख़त्म, इन प्रस्तावों पर लगी मुहर | सीएम चेहरे को लेकर सोशल मीडिया पर जंग, दिग्विजय भड़के | मुख्यमंत्री के काफिले पर पथराव, महिदपुर- नागदा के बीच की घटना, पुलिस वाहन के कांच फूटे | अब भोपाल में राहुल ने फिर मारी आंख, वीडियो वायरल | एमपी की 148 सीटों पर खतरा, बिगड़ सकता है बीजेपी का चुनावी गणित | LIVE: ऊपर से टपकने वाले को नहीं मिलेगा टिकट : राहुल गांधी | राहुल की सभा में उठी सिंधिया को सीएम कैंडिडेट घोषित करने की मांग |

2019 में बढ़ेगी मेडिकल कॉलेजों की 450 सीटें

भोपाल

अगले साल से मेडिकल कॉलेजों की सीटों में बढोत्तरी की जाएगी। चिकित्सा शिक्षा प्रदान करने के लिये इंडियन कॉउंसिल ऑफ मेडिकल  साइंसेज  के निर्धारित मापदण्ड पूरे करने पर निर्धारित सीट की स्वीकृति मिल गई है।जिसके तहत प्रदेश में संचालित मेडिकल कॉलेज में वर्ष 2019-20 से एमबीबीएस स्नातक पाठयक्रम में 450 सीट की वृद्धि की जाएगी। जिसके बाद वर्ष 2019-20 में एमबीबीएस स्नातक पाठयक्रम में कुल सीट 1350 हो जायेंगी। 

दरअसल, वर्तमान में 7 मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस की 900 सीट उपलब्ध हैं। मेडिकल कॉलेज भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर में वर्तमान सीट 150 से बढ़ाकर 250 सीट की जा रही है। इसी प्रकार रीवा में 100 से बढ़कर 150 सीट हो जायेगी।  इंडियन कॉउंसिल ऑफ मेडिकल  साइंसेज  के मापदण्ड के अनुरूप मेडिकल कॉलेज द्वारा आवश्यक शिक्षकों की नियुक्ति, उपकरण क्रय संबंधी तैयारी पूरी हो चुकी है। आवश्यक अधोसंरचना और सिविल कार्य दिसम्बर 2018 तक पूरे किये जा रहे हैं। 

बता दे कि इसके लिए चिकित्सा मेडिकल कॉलेजों को भारत सरकार की योजना में 75 करोड़ रूपये की राशि मिली है। इसमें केन्द्र सरकार द्वारा 60 प्रतिशत और राज्य सरकार द्वारा 40 प्रतिशत राशि व्यय की जा रही है।

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...