स्पीकर चुनाव के खिलाफ राष्ट्रपति से मिले मप्र के BJP विधायक, कमलनाथ सरकार की शिकायत

भोपाल। मध्य प्रदेश विधानसभा में स्पीकर और डिप्टी स्पीकर का चुनाव दिल्ली पहुँच गया है| नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में बीजेपी विधायकों का प्रतिनिधिमंडल शनिवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिला| इस दौरान बीजेपी विधायकों ने विधानसभा के नियमों और परंपराओं के उल्लंघन के खिलाफ जांच और कार्रवाई करने की अपील करते हुए कांग्रेस की शिकायत की| 

नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा है कि विधानसभा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का चुनाव पूरी तरीके से अवैध तरीके से किया गया है|  विधानसभा में अध्यक्ष का रवैया पूरी तरीके से गैर संवैधानिक था| जिसकी राष्ट्रपति से शिकायत करते हुए नेता प्रतिपक्ष ने बताया कि, किस तरीके से सदन में संसदीय परम्पराओं को ध्वस्त किया गया है| राष्ट्रपति से मुलाकात के बाद मीडिया से चर्चा करते हुए पूर्व सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि जिस तरह से विधानसभा में अध्यक्ष का निर्वाचन हुआ उसमें न प्रक्रिया का पालन हुआ न परंपराओं का पालन हुआ|  एक तरफा सत्ता पक्ष के प्रोटेम अध्यक्ष निर्वाचित कर दिए गए. इसके साथ ही बिना आपत्ति सुने उपाध्यक्ष भी निर्वाचित कर दिया गया| इसलिए हम राष्ट्रपति से मिलने आए थे| . वो वीडियो फुटेज मंगवा कर देखें और इस मामले में उचित कार्रवाई करें. क्योंकि यह मामला लोकतंत्र और संविधान की हत्या से जुड़ा हुआ है| 

गौरतलब है कि विधानसभा में अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद के लिए बीजेपी और कांग्रेस दोनों ने ही अपने उम्मीदवार खड़े किये थे| लेकिन भारी हंगामे के बीच दोनों पदों पर कांग्रेस उम्मीदवारों का चयन हुआ| इस पर भाजपा ने आपत्ति जताते हुए अलोकतांत्रिक फैसला बताया और राज्यपाल आनंदी बेन पटेल से भी शिकायत की| इसके बाद अब बीजेपी विधायकों ने राष्ट्रपति से भी मुलाकात कर शिकायत की है|  

राष्ट्रपति से मुलाकात के पत्र लिखकर समय मांगा था। राष्ट्रपति ने 12  जनवरी दोपहर दिन बजे का समय दिया था। जिसके बाद विधायकों ने प्रेजिडेंट से मुलाकात की| इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा, विश्वास सारंग समेत कई विधायक मौजूद रहे|

"To get the latest news update download tha app"