बाढ़ से हुई बर्बादी का जायजा लेने मंदसौर पहुंचे सीएम कमलनाथ

मंदसौर| मध्य प्रदेश में बाढ़ से हुई बर्बादी से जूझ रहे लोग फिर से अपने आशियाने बसाने के संघर्ष में जुटे हुए हैं| वहीं इस बर्बादी पर लगातार हो रही सियासत के बीच मुख्यमंत्री कमलनाथ बाढ़ से हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए मंदसौर पहुँच गए हैं| वो यहां पर बाढ़ प्रभावित लोगों से मिलेंगे और नुकसान का जायज़ा लेंगे| इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री ने बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों का दौरा किया था| इसके बाद धरना कर रात्रि जागरण कर जनता की अदालत लगाई और सरकार से बाढ़ पीड़ितों के लिए जल्द से जल्द सहायता जारी करने की मांग की|  

मुख्यमंत्री कमलनाथ सोमवार को मंदसौर को पहुँच चुके हैं, जहां वे बाढ़ग्रस्त इलाके में जाकर प्रभावितों से चर्चा करेंगे। वे नीमच जिले के रामपुरा जाएंगे और बाढ़ग्रस्त इलाकों में पहुंचकर प्रभावितों से चर्चा करेंगे। गांधी सागर बांध की रिंगवाल टूटने से नीमच ज़िले का रामपुरा कस्बा पूरा पानी में डूब गया था और करोड़ों रुपए का नुकसान हुआ है|  मुख्यमंत्री कमलनाथ रामपुरा में बाढ़ पीड़ित लोगों से मुलाकात करने के साथ ही वहां पर प्रशासनिक अधिकारियों से बाढ़ से हुए नुकसान की सर्वे रिपोर्ट भी तलब करेंगे|   उसके बाद वे बाढ़ ग्रस्त इलाके में प्रभावित परिवारों से मिलेंगे| नाहरगढ़ में बैठक के बाद सीएम कमलनाथ वहीं से वापस भोपाल लौट जाएंगे| अधिकारियों के साथ बैठक में सीएम तत्काल राहत के निर्देश दे सकते हैं|   


बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में 24 को पहुंचेंगे सिधिंया 

पूर्व केंद्र्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिधिंया भी जिले में बाढ़ प्रभावितों से मिलने के लिए आ रहे है। २४ सितंबर को वह मंदसौर आएंगे। पहले २५ सितंबर का दौरा तय हुआ था, लेकिन अब २४ को आ रहे है। वह उदयपुर से होकर नीमच जिले के रामपुरा क्षेत्र में पहुंचेगे। वहां से झार्डा, नारायणगढ़ होते हुए जिले में आएंगे और विभिन्न क्षेत्रों में निरीक्षण करेते हुए प्रभावितों के बीच जाएंगे। इसके बाद यहां से जावरा क्षेत्र में जाएंगे और फिर भोपाल रवाना हो जाएंगे।

"To get the latest news update download the app"