MP चुनाव : इंदौर-1 में मचा बवाल, कांग्रेस ने प्रीति का टिकट काट संजय को बनाया उम्मीदवार

इंदौर

आज नामांकन की आखिरी तारीख है और कांग्रेस द्वारा लगातार प्रत्याशियों के नामों में फेरबदल किया जा रहा है। विदिशा और बुरहानपुर के बाद पार्टी ने इंदौर-1  से पार्षद प्रीति अग्निहोत्री का टिकट काट संजय शुक्ला को दे दिया है। बताया जा रहा है कि पार्टी ने प्रीति के प्रति बढ़ते विरोध के चलते यह कदम उठाया है। चौबीस घंटे के अंदर टिकट काटे जाने पर प्रीती बहुत आहत हुई है। उन्होंने आज मीडिया के सामने अपना दर्द जाहिर किया है। प्रीति ने कहा कि पहले तो पार्टी ने मुझे टिकट दिया और फिर अचानक काटकर संजय शुक्ला को दिया। मुझ पर टिकट खरीदने के आरोप लग रहे है, इसलिए मैं पार्षद पद से इस्तीफा दे रही है, अगर पार्टी मुझे अपना टिकट वापस नही लौटाएंगी तो मैं निर्दलीय चुनाव लडूंगी।

 दरअसल, इंदौर-1 में कांग्रेस ने प्रीति गोलू अग्निहोत्री को अपना उम्मीदवार बनाया था। प्रीति को उम्मीदवार बनाए जाने के बाद यहां से दावेदारी कर रहे संजय शुक्ला और कमलेश खंडेलवाल ने बगावत करते हुए निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान किया था। प्रीति के विरोध को देखते हुए कांग्रेस ने गुरुवार रात प्रीति का टिकट निरस्त कर संयज शुक्ला को इंदौर-1 से अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया।

     बताते चले कि पिछली बार प्रीती के पति गोलू के साथ भी ऐसा ही हुआ था।उन्हें भी पार्टी ने इसी विधानसभा से टिकट दिया था, लेकिन बाद में उनका टिकट काटते हुए कांग्रेस ने दीपू यादव को प्रत्याशी बनाया था। इसी तरह इस साल भी पार्टी ने पहले तो प्रीती को टिकट दिया और फिर उनका टिकट काट संजय शुक्ला को प्रत्याशी घोषित कर दिया। संजय शुक्ला बीते एक साल से अपनी तैयारियों में जुटे थे। गोलू और संजय के बीच मतदाताओं के बीच संपर्क बढ़ाने के लिए कथा और अन्य आयोजनों की होड़ थी। मगर पार्टी ने हैरान करने वाला फैसला लेते हुए प्रीति अग्निहोत्री को टिकट दे दिया था। जिसके बाद विरोध होने लगा और पार्टी ने अपने फैसले को बदल टिकट संजय शुक्ला को दे दिया।