आपस में भिड़े दो थानों के TI, जमकर हुई हाथापाई, 10 किमी तक चलती गाड़ी पर लटके

भिंड़।

मध्यप्रदेश के भिंड जिले में अवैध शराब पकड़ने गए दो मिहाेना टीआई अमर सिंह सिकरवार और रौन टीआई मनोज राजपूत में विवाद हो गया  और दोनों के बीच हाथापाई हो गई।  इतना ही नही विवाद के बीच जब मिहोना टीआई सिकरवार अपनी गाड़ी लेकर जाने लगे तो रौन टीआई राजपूत गाड़ी में लटक गए, लेकिन सिकरवार ने गाड़ी नहीं रोकी। रौन टीआई राजपूत 10 किमी दूर मिहोना थाने तक मिहोना टीआई की गाड़ी में लटके हुए गए। मामला एसपी रुडोल्फ अल्वारेस के पास पहुंचा तो उन्होंने रौन टीआई राजपूत को लाइन अटैच कर दिया।

मामला सोमवार देर रात का है।यहां लहार के एक शराब ठेकेदार ने रौन टीआई मनोज राजपूत को सूचना दी कि एक लाल रंग की कार में अवैध शराब ले जाई जा रही है। इस सूचना के बाद रौन टीआई राजपूत ने दो सिपाहियों को गाड़ी पकड़ने के लिए लगाया लेकिन वे गाड़ी नहीं रोक सके। इसके बाद यह सूचना मिहोना थाना प्रभारी अमर सिंह सिकरवार को दी गई। रात 11.30 बजे रौन थाना क्षेत्र के अंतर्गत नौधा रोड पर पुलिस ने कार को पकड़ लिया। कार में 25 पेटी अवैध शराब थी, लेकिन दो आरोपी मौके से भाग गए।  जिस जगह कार पकड़ी गई, वहां मिहोना थाना प्रभारी अमर सिंह सिकरवार पहुंच गए और शराब को अपनी गाड़ी में रख लिया। रौन थाना प्रभारी भी कुछ देर बाद मौके पर पहुंच गए और कहा कि यह जगह रौन थाने की सीमा में है, इसलिए शराब उन्हें सौंप दें, लेकिन बताया गया है कि मिहोना थाना प्रभारी सिकरवार ने उन्हें शराब देने से इनकार कर दिया और कहा- किसमें दम है जो मेरी गाड़ी से शराब उतार ले।

इसी बात को लेकर  सिकरवार और राजपूत के बीच हाथापाई हो गई। जब मिहोना टीआई सिकरवार अपनी गाड़ी लेकर जाने लगे तो रौन टीआई राजपूत गाड़ी में लटक गए, लेकिन सिकरवार ने गाड़ी नहीं रोकी। रौन टीआई राजपूत 10 किमी दूर मिहोना थाने तक मिहोना टीआई की गाड़ी में लटके हुए गए। इसी मामले में मंगलवार शाम एसपी रुडोल्फ अल्वारेस ने रौन थाना और घटनास्थल का निरीक्षण किया। इसके बाद देर रात रौन टीआई मनोज राजपूत को लाइन अटैच कर दिया गया।

"To get the latest news update download the app"