दलित सरपंच का आरोप - गांव के दबंग जाली दस्तखत कर निकाल रहे पंचायत की राशि

भोपाल

मध्यप्रदेश विधानसभा में बजट सत्र जारी है। आज विधानसभा में मुरैना जिले की ग्राम पंचायत छिनवरा की दलित सरपंच शीला जाटव दंबगाई का विरोध करने पहुंची।जाटव ने आरोप लगाया कि गांव में दबंगों की दंबगाई बढ़ गई है। वे मुझे दलित होने की वजह से काम नही करने दे रहे है। सरपंच जाली दस्तखत कर पंचायत की राशि निकाल रहे है। 

दरअसल, पहाडग़ढ़ के छिनवरा गांव में रहने वाली शीला जाटव ने चार साल पहले सरपंच का चुनाव जीता था लेकिन दबंगो ने न केवल उनकी जीत का प्रमाण-पत्र अपने पास रख लिया बल्कि सरपंच के सील-सिक्के लेकर पंचायत का संचालन भी किया जा रहा था। मामले के मीडिया में आते ही कलेक्टर भास्कर लाक्षाकार के निर्देश पर एडीएम ने दबंगो से सील-सिक्के शीला को दिलवाए थे। दंबगों की इस दंबगाई के चलते उन्होने बीते चार सालों में शासन से मिली राशि कहां खर्च की,अब इसका लेखा-जोखा उनके पास नहीं है। जिसको लेकर सरपंच ने मंगलवार को एक बार फिर कलेक्टर के समक्ष जांच की मांग की अभी तक हुए कार्यों की जांच कराई जाए और लेखा-जोखा सचिव व रामखन सिंह सिकरवार से लिया जाए। । इसी के चलते वह आज बुधवार को विधानसभा पहुंची और अपनी बात रखी।

इस पर मंत्री गोपाल भार्गव ने सरपंच को भरोसा दिलाते हुए कहा कि इसकी जांच की जाएगी। जांच के बाद यदि किसी ने अनाधिकृत राशि निकाली है तो उस पर एफआईआर और उसकी रिकवरी की जाएगी।

"To get the latest news update download tha app"