गौर ने फिर अपनी ही 'पार्टी' को लिया आड़े हाथ , कहा-मैं सच बोलता हूं, जो कड़वा है

जबलपुर।

इन दिनों भाजपा के वरिष्ठ नेता बाबूलाल गौर अपने बयानों से सुर्खियों में छाए हुए है।पार्टी द्वारा समझाइश देने के बावजूद वे जमकर बयानबाजी कर रहे है। हाल ही उन्होंने कुसमारिया के कांग्रेस में जाने का समर्थन किया था और पार्टी पर वरिष्ठ नेताओं को एक के बाद एक करके दरकिनार करने का आरोप लगाया था।एक बार फिर गौर ने पार्टी के खिलाफ बयानबाजी कर राजनैतिक गलियाओं में हलचल मचा दी है। गौर के बयान के बाद भाजपा में फिर हड़कंप मच गया है। गौर का कहना है कि मैं सच बोलता हूं, जो कड़वा होता है

        दरअसल,रविवार को पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता बाबूलाल गौर मंडला जाने के लिए सुबह सर्किट हाउस पहुंचे थे। जहां उनसे मिलने संगठन के पदाधिकारी और नेता तो नही पहुंचे लेकिन कांग्रेसी नेताओं के साथ मीडिया पहुंच गई। यहां कांग्रेसियों ने पहले तो गौर साहब का जमकर स्वागत किया और फिर काफी देर तक चर्चा की।इसके बाद गौर ने मीडिया से चर्चा के दौरान फिर भाजपा को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि  मैं सच बोलता हूं, जो कड़वा होता है। सच को कोई इतनी जल्दी स्वीकार भी नहीं करता।कई नेताओं को तो सच बोलने की सजा मिली है।  हर पार्टी को उनके वरिष्ठ नेताओं को सम्मान और तवज्जो देनी चाहिए। हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि उन्हें भी सम्मान मिल रहा है लेकिन वो जैसा चाहते है वैसा नहीं। वही भाजपा नेताओं से बजाय कांग्रेस नेताओं के स्वागत करने पर गौर ने कहा कि उनके पास भाजपा-कांग्रेस सभी दल के नेता आशीर्वाद लेने आते हैं। वही उन्होंने कांग्रेस में आने की अटकलों को नकार दिया, हालांकि वे लोकसभा चुनाव लड़ेंगे कि नहीं इस पर कोई प्रतिक्रिया नही दी।


"To get the latest news update download tha app"