बैकफुट पर राजस्व मंत्री, दी सफाई

भोपाल।  मध्य प्रदेश के राजस्व और परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत द्वारा तहसीलदार को निलंबित करने की कार्रवाई के खिलाफ राजस्व अधिकारी लामबंद हो गए हैं और हड़ताल की धमकी दी है। वहीं विवाद बढता देख मंत्री भी बैकफूट पर आ गए है और सफाई पेश की है। मंत्री का कहना है  मैं डायस पर नही बैठा था। मैं कम्प्यूटर वाले = की कुर्सी पर बैठा था। फुटेज देख सकते है। मैं किसी से मिलने भी जाता हूं तो उसकी कुर्सी पर नही बैठता। किसानों और आम आदमी की शिकायत थी सीमांकन नामांकन नही हो रहे इसी शिकायत पर जांच करने गया था। साथ ही मंत्री ने कहा कि निलंबन वापस होगा या नही होगा इस बारे में देखते है।

दरअसल, गोविंद सिंह राजपूत मंगलवार दोपहर अचानक सीहोर पहुंचे थे। इस दौरान वो तहसीलदार के डायस पर बैठ गए और राजस्व कार्यो की फाइल देखी ।  काम में ज़बरदस्त लापरवाही देखकर मंत्री भड़क गए और उन्होंने तहसीलदार सुधीर कुशवाह से जानकारी मांगी और उचित उत्तर ना देने पर उन्हें निलंबित किए जाने के आदेश दे दिए। निलंबन की कार्रवाई से मध्य प्रदेश राजस्व अधिकारी संघ नाराज हो गया है। निलंबन से ज्यादा संघ इस बात को लेकर नाराज है कि मंत्री तहसीलदार की डायस पर जाकर बैठ गए जो एक न्यायालय का हिस्सा है और उस पर केवल न्यायाधीश के रूप में उस समय पदस्थ तहसीलदार ही बैठता है। तहसीलदार संघ का कहना है कि कल को यदि मंत्री को विधि विभाग के खिलाफ कोई शिकायत मिले तो क्या वे सिविल न्यायालय में जाकर इस तरह से बैठ सकते हैं।

संघ ने दी हड़ताल की दी धमकी

संघ का कहना है कि गोविंद सिंह राजपूत डायस पर पहुंच कुर्सी पर बैठे थे, तहसील ऑफिस न्यायालय व्यवस्था का हिस्सा होता है। मंत्री के आचरण से न्यायालय के काम में बाधा पहुंची। इसी सिलसिले में वो आज प्रभारी मंत्री आरीफ अकील से मिलने पहुंचे और ज्ञापन सौंपा। संघ ने कहा है यदि तहसीलदार का निलंबन आता है तो संघ इसका पुरजोर विरोध करेगा और जरूरत पड़ने पर हड़ताल भी की जाएगी।

 सीहोर कलेक्टर नहीं मानेंगे मंत्री का आदेश

इस बीच कलेक्टर अजय गुप्ता ने प्रदेश के राजस्व मंत्री गोविन्द राजपूत के इस आदेश को मानने से साफ इंकार कर दिया है कि सीहोर के तहसीलदार सुधीर कुशवाह भ्रष्ट हैं, इसलिए उन्हें निलंबित करने का प्रस्ताव भेजा जाए। कलेक्टर का कहना है कि तहसीलदार को निलंबित करने का अधिकार राज्य शासन को है। मंत्री जी चाहें तो इस संबंध में प्रमुख सचिव राजस्व को कार्यवाही के लिए लिख सकते हैं।


"To get the latest news update download the app"