Breaking News
फ्लॉप रहा कांग्रेस का 'घर वापसी' अभियान, सिर्फ कार्यकर्ता लौटे, नेताओं ने बनाई दूरी | शिवराज कैबिनेट की बैठक ख़त्म, इन प्रस्तावों पर लगी मुहर | सीएम चेहरे को लेकर सोशल मीडिया पर जंग, दिग्विजय भड़के | मुख्यमंत्री के काफिले पर पथराव, महिदपुर- नागदा के बीच की घटना, पुलिस वाहन के कांच फूटे | अब भोपाल में राहुल ने फिर मारी आंख, वीडियो वायरल | एमपी की 148 सीटों पर खतरा, बिगड़ सकता है बीजेपी का चुनावी गणित | LIVE: ऊपर से टपकने वाले को नहीं मिलेगा टिकट : राहुल गांधी | राहुल की सभा में उठी सिंधिया को सीएम कैंडिडेट घोषित करने की मांग | राहुल के भोपाल दौरे पर वीडियो वार..'कांग्रेस हल है या समस्या' | कांग्रेस का शक्ति प्रदर्शन: 11 कन्याओं ने उतारी राहुल की आरती, 21 पंडितों ने किया मंत्रोचार |

नरोत्तम मिश्रा होंगे नये भाजपा प्रदेश अध्यक्ष!

भोपाल| मध्य प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान को बदले जाने की अटकलों के बीच सूत्रों के हवाले से खबर है कि जनसम्पर्क मंत्री नरोत्तम मिश्रा प्रदेश भाजपा के नए अध्यक्ष होंगे|  आज शाम को भाजपा कोर कमेटी की बैठक के बाद इस बात का औपचारिक ऐलान दिल्ली से होने की पूरी संभावना है | डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा के नाम को लेकर आम राय बना ली गई है और बीजेपी इस बात का भी पूरा ख्याल रख रही है कि प्रदेश में ब्राह्मण वोटरों का एक बड़ा वर्ग जो उससे नाराज है उसे नरोत्तम के माध्यम से साधा जाए | मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कह चुके हैं कि बुधवार तक इसका फैसला होगा, हालांकि उन्होंने किसी नाम का खुलासा नहीं किया है| सूत्रों के मुताबिक नरोत्तम के नाम की औपचारिक घोषणा होना बाकी है, जल्द ही घोषणा कर दी जायेगी| 

नरोत्तम अपनी काबिलियत तो सरकार में कई बार दिखा चुके हैं और उसके साथ-साथ मध्यप्रदेश से बाहर भी उन्होंने नरेंद्र मोदी और अमित शाह के सामने उत्तर प्रदेश के चुनाव में अपनी काबिलियत को साबित किया था|  चौथी बार 200 पार का सपना देख रही बीजेपी के लिए नरोत्तम मिश्रा का अध्यक्ष बनना अपने आप में पार्टी को पुनर्जीवित करने जैसा होगा|  क्योंकि नंदकुमार चौहान न केवल अपनी विवादास्पद बयान बाजी के चलते चर्चित रहे हैं बल्कि कई बार उन्होंने पार्टी को इसके चलते संकट में भी डाला है|  साथ ही साथ नंदकुमार चौहान को लेकर यह माना जाता है कि जैसा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान करते हैं वैसा ही होता है| 

नरोत्तम के नाम पर मुहर लगना लगभग तय है| सत्ता में उनका एक बड़ा कद है| सरकार के संकटमोचक की छवि है, कद्दावर मंत्री की छवि, अमित शाह से निकटता, कुशल चुनाव प्रबंधक उप्र एवं गुजरात चुनाव में रणनीतिकार के रूप में हाईकमान को लोहा मनवाया, सहज उपलब्ध, इसी काबिलियत के कारण नरोत्तम के नाम पर चर्चा तेज थी| 



  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...