अब मप्र पुलिस कर्मचारी सहयोग संघ ने खोला शिवराज सरकार के खिलाफ मोर्चा

भोपाल। 

चुनावी साल में शिवराज सरकार की मुश्किलें कम होने का नाम ही नही ले रहा है।आए दिन कोई ना कोई वर्ग-संघ अपनी मांगों को लेकर मोर्चा खोलने को तैयार बैठा है।हर किसी ने अपनी मांगे मनवाने के लिए आंदोलन की राह पकड़ ली है। इसी कड़ी में आज विशेष सशस्त्र बल एवं पुलिस बल की पांच सूत्रीय मांगो को लेकर मध्यप्रदेश पुलिस कर्मचारी सहयोग संघ आज भोपाल के शाहजहानी पार्क में विशाल जन आंदोलन करने जा रहा है। यह कार्यक्रम पुलिस जवानों की मांगों को लेकर किया जा रहा है।आंदोलन के बाद मुख्यमंत्री शिवराज और गृह मंत्री भूपेन्द्र सिंह को ज्ञापन सौंपा जायेगा।

 संघ का आरोप है कि सरकार द्वारा 12 साल से उनकी मांगों को अनदेखा किया जा रहा है। इसके कारण पुलिस जवान और उनके परिवार के सदस्यों को बेहतर सुविधाएं नही मिल रही है। वेतनमान में भी अंतर हैं। आवास की सुविधा अच्छी नहीं है। कई जवानों को आवास नहीं मिल रहे हैं।वही वाहन, वर्दी व वर्दी धुलाई भत्ते की राशि कम दी जा रही है।

उनकी मांग है कि वर्तमान मंहगाई को देखते हुए विशेष सशस्त्र बल एवं पुलिस बल के वेतन ग्रेड पे आरक्षक 2400, प्रधान आरक्षक 2800, सहायक उपनिरीक्षक 3600, उपनिरीक्षक 4200 एवं निरीक्षक 4800 होना चाहिए। अन्य भत्ते जैसे पौष्टिक आहार 3000, वर्दी भत्ता 3000, वर्दी धुलाई भत्ता 600, वाहन भत्ता 3000, एस.ए.एफ. भत्ता 3000 रुपये होना चाहिए।विशेष सशस्त्र बल और पुलिस बल में पुन: रोटेशन प्रणाली आरंभ की जावे। विशेष सशस्त्र बल की कंपनियों को पांच वर्ष के लिए स्थायी किया जावे। प्रदेश की सभी बैरिकों को सर्व सुविधायुक्त बनाया जावे। शासकीय कार्य के लिए आवागमन के लिए रेल्वे वारंट को तत्काल आरक्षण की व्यवस्था दी जावे।