शिवराज की इस योजना को बंद करने पर सदन में हंगामा, पक्ष-विपक्ष के बीच तीखी नोंकझोंक

भोपाल।

शिवराज सरकार में कॉलेज जाने वाले छात्रों के लिए शुरू हुई स्मार्टफोन योजना को कमलनाथ सरकार द्वारा बंद किए जाने पर आज विधानसभा में जमकर हंगामा हुआ। विपक्ष  ने इसको लेकर सरकार की जमकर घेराबंदी की। बीजेपी विधायक चेतन कश्यप ने योजना को लेकर सवाल किया। सवाल के जवाब में उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि स्मार्ट फोन गुणवत्ता पूर्ण नही थे।इसके बाद दोनों पक्षों के बीच तीखी नोंक-झोंक हुई और कार्यवाही पांच मिनट के लिए स्थगित कर दी गई।

दरअसल, आज विधानसभा के मानसून सत्र में बीजेपी विधायक चेतन कश्यप ने योजना को लेकर सवाल किए।इस पर मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि स्मार्टफोन को लेकर और बेहतर योजना बना रहे हैं अब कब दिए जाएंगे इसकी समय सीमा बताना संभव नही है। वहीं नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने स्मार्ट फोन योजना को लेकर मंत्री जीतू पटवारी से जवाब मांगा उन्होने कहा कि इस साल छात्रों को स्मार्ट फोन मिलेंगे या नही मंत्री हां या ना में जवाब दें। जिस पर जीतू पटवारी ने कहा कि यह मेरा विशेषाधिकार है कि मै कैसे जवाब दूं । हां और ना में जवाब देने के लिए बाध्य नहीं कर सकते। जिसके बाद दोनों पक्षों के बीच जमकर हंगामा हुआ और कार्यवाही पांच मिनट के लिए स्थगित कर दी गई।

गौरतलब है कि शिवराज सरकार में उच्च शिक्षा विभाग नियमित रूप से कॉलेज जाने वाले प्रथम वर्ष के छात्रों को स्मार्टफोन देता था। साल 2018 में भी 75 फीसदी उपस्थिति वाले लगभग पौने दो लाख स्टूडेंट्स को फोन दिए जाने थे, जो अब तक नहीं दिए गए। बीते दिनों कमलनाथ सरकार ने शिवराज सरकार पर स्मार्टफोन बांटने के नाम पर करोड़ों रुपए का घोटाला करने का आरोप लगाया था और   जांच की बात कही थी। जिसको लेकर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा था कि कांग्रेस जानबूझकर उनकी सरकार की योजनाओं को बंद कर रही है। अगर ऐसा चलता रहा तो आंदोलन किया जाएगा।जिसके बाद आज सदन में जमकर हंगामा हुआ।


"To get the latest news update download the app"