Breaking News
21 अगस्त को भोपाल में होगी 'अटल जी' की श्रद्धांजलि सभा, कांग्रेस भी होगी शामिल | चुनाव से पहले यात्राओं का दौर, दिग्विजय के बाद जयवर्धन ने शुरू की पदयात्रा | कांग्रेस का आरोप- नरेला विधानसभा में 11 हजार फर्जी वोटर, विधायक बोले- असली को नकली बता रहे | प्रशासन बता रहा 'डेंगू' छुआछूत की बीमारी | किसकी होगी पूरी मुराद, आज महाकाल के दर पर सिंधिया-शिवराज | सड़क पर सियासत : कमलनाथ बोले- बुधनी से अच्छी छिंदवाड़ा की सड़कें, शिवराज जी एक बार जरुर आए | सुल्तानगढ़ वॉटरफॉल हादसा : मौत से संघर्ष के बाद भी कैसे हार गई 9 जिंदगियां, देखें वीडियो | शर्मसार : सागर में नाबालिग से गैंगरेप, बीते दिनों ही मिला था सबसे सुरक्षित शहर का तमगा | कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने लिया विस चुनाव में भाजपा को उखाड़ फेंकने का संकल्प | केंद्रीय मंत्री की बहन को एसिड अटैक और मारने की धमकी |

कर्नाटक में सरकार बनाने पर सिंधिया ने भाजपा पर बोला बड़ा हमला

भोपाल।

एक तरफ भाजपा कर्नाटक में सरकार बनने का जश्न मना रही है, वही दूसरी तरफ कांग्रेस इसका विरोध प्रदर्शन कर रही है।देशभर में विपक्ष द्वारा भाजपा सरकार की निंदा की जा रही है। कांग्रेस इसे लोकतंत्र की हत्या बता रही है। अब इसका विरोध मध्यप्रदेश मे भी शुरु हो गया है । इसी कडी में कांग्रेस के सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी भाजपा सरकार पर जमकर हमला बोला है। उन्होंने भाजपा पर पॉवर के गलत उपयोग का आरोप लगाया है।

सिंधिया ने ट्वीट के माध्यम से सरकार पर बड़ा हमला बोला है। सिंधिया ने ट्वीट कर कहा है कि कर्नाटक में भाजपा ने जिस तरह से पॉवर-पैसे का दुरूपयोग कर संवैधानिक व्यवस्था का मजाक बनाया है, वो हमारे लोकतंत्र पर एक बदनुमा दाग समान है।सत्ता के दम्भ में चूर भाजपा नेताओं को बताना चाहता हूँ कि देश की जनता सब देख और समझ रही है-"सत्य परेशान हो सकता है पराजित नही।


गौरतलब है कि कर्नाटक की सत्ता के सिंहासन पर अब बीजेपी काबिज हो गई है। कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला ने येद्दियुरप्पा को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। लिंगायत समुदाय से खास नाता रखने वाले 75 साल के येद्दियुरप्पा तीसरी बार कर्नाटक के मुख्यमंत्री बने हैं।  हालांकि, अभी बहुमत साबित करना एक बड़ी चुनौती है।  कांग्रेस औऱ जेडीएस के गठबंधन के पास  (116) सीटें होने के बाद भी राज्यपाल ने सरकार बनाने का पहला न्यौता बीजेपी को दिया है इसके साथ ही पार्टी को बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का वक्त भी दिया गया है।वही कर्नाटक विधानसभा चुनाव की 222 सीटों पर आए नतीजों में बीजेपी को 104 सीटें मिली हैं, जो कि बहुमत से 8 विधायक कम हैं। कांग्रेस को 78 और जेडीएस को 37, बसपा को 1 और अन्य को 2 सीटें मिली हैं। ऐसे में बीजेपी भले ही सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी हो, लेकिन बहुमत से वो दूर है, जबकि कांग्रेस और जेडीएस ने नतीजे आने के बाद हाथ मिला लिया है।

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...