पीसीसी चीफ के फैसले में देरी पर बोले सिंधिया, कांग्रेस से पूछो यह सवाल

भोपाल| कांग्रेस में प्रदेश अध्यक्ष को लेकर चल रही चर्चा के बीच पार्टी महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भोपाल पहुंचकर मुख्यमंत्री कमलनाथ से मुलाकात की| हालांकि इस मुलाक़ात के बाद उन्होंने साफ़ किया कि यह मुलाकात राजनीतिक नहीं थी| मैं यहां राजनीत करने या राजनीति की बात करने नहीं आया हूँ| मीडिया से चर्चा में सिंधिया ने सीएम से मुलाक़ात को लेकर बताया कि प्रदेश में बाढ़ से बिगड़े हालातों और फसल नुकसान के मुआवजे को लेकर चर्चा हुई है| 

सिंधिया ने कहा प्रदेश में बाढ़ के हालातों का जायजा लिया है| ग्वालियर चम्बल में, मन्दसौर नीमच सहित कई जगहों में हालात चिंताजनक है, किसान परेशान है, फसल बर्बाद हुई है अतिवृष्टि से भी नुकसान हुआ है| उन्होंने कहा राजस्व मंत्री और प्रभारी मंत्री को बोला है दोबारा सर्वे हो| जो कलेक्टर रिपोर्ट भेजे उसे मंजूर कर मुआवजा देना चाहिए| सीएम कमलनाथ से पीड़ितों को राहत देने पर चर्चा हुई|  बरसात रूकने के एक दो दिन बाद सर्वे हो, सर्वे के बाद राहत राशि जल्दी मिले, फसल बीमा की राशि भी मिले इस सम्बन्ध में चर्चा की गई| उन्होंने बताया कि सीएम ने सर्वे फिर से करवाने का आश्वासन दिया है| 

पीसीसी चीफ पर बोले, कांग्रेस को पूछो देरी क्यों हो रही

पीसीसी चीफ को लेकर सिंधिया ने कहा मैं यहां राजनीत करने या राजनीति की बात करने नहीं आया हूँ|  पीसीसी अध्यक्ष को लेकर चर्चा के सवाल को नकारते हुए उन्होंने कहा में जनता की सेवा, प्रगति और विकास को लेकर काम करता हूँ, यह में पहले ही स्पष्ट कर चुका हूं, में इस पर कुछ नही बोलूंगा क्योकि में इसमे निर्णायकार नही हूँ| पीसीसी चीफ की देरी पर किए गए सवाल के जवाब में सिंधिया ने कहा कि यह प्रश्न कांग्रेस को पूछो कि देरी क्यों हो रही है। सिंधिया ने कहा कि मेरा रूख दिसंबर में देख चुके हैं, मेरा काम सेवाभाव है। इस मुलाक़ात के दौरान मंत्री गोविन्द सिंह राजपूत और महेंद्र सिसोदिया भी मौजूद रहे| इससे पहले सिंधिया ने मुंगावली विधानसभा क्षेत्र में बाढ़ से हुए नुकसान का जायजा लिया| 

"To get the latest news update download the app"