टि्वटर पर 'मामा' का जादू बरकरार, कमलनाथ को पछाड़ आगे निकले शिवराज

भोपाल।

मध्यप्रदेश में 13 साल राज करने वाले शिवराज सिंह चौहान इस बार भले ही जीत का चौका ना लगा पाए हों लेकिन वे दिल जीतने में सफल रहे । इस्तीफा देने के बाद वे लगातार सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों से जुड़े हुए है और लोगों के सवालों के जवाब दे रहे है।यूजर्स भी जमकर शिवराज को पंसद कर रहे है और तरह तरह की इच्छा जाहिर कर रहे है।यही कारण है कि हार के बावजूद शिवराज के ट्वीटर पर फॉलोअर की संख्या 85 हजार से ज्यादा बढ़ी है।वही सत्ता में आते ही मुख्यमंत्री कमलनाथ भले ही गूगल पर ज्यादा सर्च किए गए हो फिर भी फॉलोअर्स के मामले में केवल 40  हजार की ही वृद्धि हुई है। 

दरअसल, चुनाव परिणाम आने के बाद और कांग्रेस के सत्ता संभालने के बाद  शिवराज के ट्विटर पर 85 हजार से ज्यादा फॉलोअर्स बढ़े है।हार के बाद शिवराज ने जहां एक महीने में 300 से ज्यादा ट्वीट किए।11 जनवरी तक शिवराज के कुल फॉलोअर्स की संख्या जहां 50.53 लाख रही।11 दिसंबर को चुनावी नतीजे सामने आने के बाद शिवराज सिंह चौहान ने 12 दिसंबर को हार स्वीकारते हुए मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया था। इसके अगले ही दिन 13 दिसंबर को शिवराज के 5,442 फॉलोअर्स बढ़ गए। वहीं, 13 दिसंबर को शिवराज ने सबसे ज्यादा 32 ट्वीट किए। 11 दिसंबर से 11 जनवरी के बीच शिवराज के सबसे कम 1,531 फॉलोअर्स 11 दिसंबर को ही बढ़े। इसी दौरान उनके फॉलोअर्स की संख्या में रोजाना औसतन 2,500 का इजाफा हुआ।

वहीं दूसरी तरफ मुख्यमंत्री कमलनाथ के सिर्फ 40 हजार फॉलोअर्स ही बढ़े। सत्ता संभालने के बाद कमलनाथ ने इस दौरान 100 से भी कम ट्वीट किए। कमलनाथ के 1.59 लाख फॉलोअर्स रहे। कमलनाथ का नाम मुख्यमंत्री पद के लिए 13 दिसंबर को तय हुआ था। अगले ही दिन 14 दिसंबर को उनके 5,352 फॉलोअर्स बढ़ गए। इसके बाद उनके सबसे ज्यादा 5,735 फॉलोअर्स 18 दिसंबर को बढ़े, क्योंकि 17 दिसंबर को उन्होंने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली और किसानों की कर्जमाफी की फाइल पर साइन किए। कमलनाथ के भी सबसे कम 236 फॉलोअर्स 11 दिसंबर को ही बढ़े। 11 दिसंबर को कमलनाथ के ट्विटर पर फॉलोअर्स की संख्या 1,18,718 थी, जिनकी संख्या 9 जनवरी तक बढ़कर 1,58,77 हुई।ये आंकड़े 11 दिसंबर 2018 से 11 जनवरी 2019 तक के हैं।

"To get the latest news update download the app"