Breaking News
शिवराज कैबिनेट की अहम बैठक कल, इन प्रस्तावों पर लग सकती है मुहर | मौसम विभाग का अलर्ट, मप्र के इन जिलों में हो सकती है भारी बारिश | VIDEO : बिल्डिंग पर चढ़ आत्महत्या की धमकी देने लगा आरोपी, 4 घंटे चला हंगामा, पुलिस के हाथ पांव फूले | भाजपा नेता की गुंडागर्दी, चौकी प्रभारी को सरेआम पीटा, मामला दर्ज | दुष्कर्म के बाद 5 साल की मासूम की हत्या, घर के ही सेप्टिक टैंक में फेंकी लाश | ई-टेंडर घोटाला : जांच के लिए CFSL भेजी जाएगी हार्ड डिस्क | 21 अगस्त को भोपाल मे होने वाली 'अटल जी' की श्रद्धांजलि सभा में कांग्रेस भी होगी शामिल | 23 हजार ग्राम पंचायत और सभी शहरों में होंगी अटलजी की श्रद्धाजलि सभाएं | चुनाव से पहले यात्राओं का दौर, दिग्विजय के बाद जयवर्धन ने शुरू की पदयात्रा | नायब तहसीलदार का छलका दर्द, "संवर्ण हूँ इसलिए भुगत रहा सजा" |

आज से जूडा का आंदोलन शुरु, मांगे पूरी ना होने पर दी हड़ताल की चेतावनी

भोपाल। 

 7वें वेतनमान के अनुरूप मानदेय की मांग को लेकर प्रदेश के सरकारी मेडिकल कॉलेजों के जूडा ने सरकार के खिलाफ फिर से मोर्चा खोल दिया है। आज से जूडा ने सरकार के खिलाफ  आंदोलन शुरु कर दिया है।हालांकि सागर छोड़ प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेजों में  आंदोलन होगा । आज प्रदेशभर के जूडा काली पट्टी बांध कर काम करेंगें। इसकी मरीजों को परेशानी हो सकती है। वही जूडा 23 जुलाई से हड़ताल करने की तैयारी में है। 

हड़ताल कर रहे जूडा का आरोप है कि सरकार ने सभी की मांग पूरी की है। हर वर्ग को इस साल कुछ ना कुछ मिला है,लेकिन जूडा पिछले तीन साल से मानदेय की मांग कर रहा लेकिन उस पर अबतक कोई विचार नही किया । सरकार जूडा के साथ भेदभाव कर रही है।अभी पीजी प्रथम, द्वितीय व अंतिम वर्ष का स्टायपेंड क्रमशः 45000, 47000 व 49000 है। कई राज्यों में स्टायपेंड 60 हजार से 75 हजार रुपए तक है। जूडा ने सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाने व हॉस्टल में खाने की गुणवत्ता ठीक करने की मांग भी की है। 

जूडा ने चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर मांग पूरी नहीं हुई तो 23 जुलाई से वे बेमियादी हड़ताल करेंगें। इस दौरान अस्पतालों में होने वाली परेशानियों की जिम्मेदारी सरकार की  होगी। 



  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...