चुनावी मैदान में कूदने को तैयार कई बाबा, बीजेपी से मांग रहे टिकट

भोपाल। मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार द्वारा पांच बाबाओं को राज्यमंत्री का दर्जा दिए जाने के बाद बाबाओं ने भी आगामी विधानसभा चुनाव लड़ने की इच्छा जताई है। बाबा अपनी राजनीतिक भागीदारी के लिए चुनावी समर में उतरने की तैयारी कर रहे हैं। इनमें से तीन बडे बाबाओं ने टिकट की मांग की है।कम्प्यूट बाबा के नाम से मशहूर  स्वामी नामदेव त्यागी ने सिवनी से , परमहंस अवधेशपुरी महाराज ने उज्जैन दक्षिण से और खडेश्वरी महाराज ने मंडला से टिकट की मांग की है।अब बाबाओं ने टिकट के लिए सरकार पर दबाव बनाना शुरु कर दिया है, वही टिकट ना मिलने पर निर्दलीय चुनाव लड़ने की बात भी कर रहे है। ऐसे में एक बार फिर बाबाओं ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है, हालांकि बाबाओं को टिकट दिया जाए या नही इसका अंतिम फैसला को हाईकमान ही करेगा, लेकिन इसके पहले बाबाओं की इस बगावत ने मुख्यमंत्री शिवराज के माथे पर चिंता की लकीरें खींच दी है। 

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश की बीजेपी सरकार ने इस साल अप्रैल में पांच हिन्दू बाबाओं को राज्यमंत्री का दर्जा दिया है, जिनमें नर्मदानंद महाराज, हरिहरनंद महाराज, कंप्यूटर बाबा, भय्यूजी महाराज और पंडित योगेन्द्र महंत शामिल हैं. इनमें से भय्यूजी महाराज का हाल ही में निधन हो गया है। बाबाओं को राज्यमंत्री का दर्जा देने पर सरकार की तीखी आलोचना होने पर मुख्यमंत्री चौहान ने कहा था कि उनकी सरकार विकास और लोगों के कल्याण के लिए समाज के हर तबके के लोगों को जुटा रही है।