VYAPAM SCAM: मेडिकल छात्रा नम्रता डामोर मर्डर केस की दोबारा जांच करेगी CBI

भोपाल।

शिव 'राज' मे हुए व्यापम महाघोटाले से जुड़े मेडिकल छात्रा नम्रता डामौर मर्डर केस की सीबीआई दोबारा जांच करने वाली है। स्पेशल कोर्ट ने मेडिकल छात्रा नम्रता डामौर मर्डर केस में सीबीआई की क्लोजर रिपोर्ट नामंजूर कर दी और  फिर से जांच के आदेश दिए है। व्यापमं घोटाले की जांच से जुड़े सीबीआई के शीर्ष अधिकारी ने इसकी पुष्टि की है। सीबीआई ने क्लोजर रिपोर्ट में उस ट्रेन की बोगी में सवार यात्रियों के बयान भी पेश किए थे, जिसमें नम्रता सवार थी।

दरअसल, मध्य प्रदेश में व्यापम घोटाले के ख़ुलासे के बाद मेडिकल स्टूडेंट नम्रता डामोर की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई थी, उसकी लाश उज्जैन के पास रेलवे ट्रैक पर मिली थी। नम्रता डामोर की मौत के बाद इस केस से जुड़े 23 लोगों की संदिग्ध हालात में मौत की जांच को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को आदेश दिए थे। सीबीआई ने नम्रता की मौत को सुसाइड बताते हुए दो साल पहले कोर्ट में क्लोजर रिपोर्ट पेश की थी। 

नम्रता के पिता मेहताब सिंह ने सीबीआई जांच पर सवाल उठाते हुए कोर्ट को बताया कि उन्हें आशंका है कि बेटी की हत्या के बाद उसकी लाश रेलवे ट्रैक किनारे फेंकी गई थी।रेलवे के गेटमैन ने उन्हें यह बात बताई थी। सीबीआई ने उस गेटमैन से बयान तक नहीं लिए। इस आधार पर कोर्ट ने सीबीआई से इस मामले में दोबारा जांच कर रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिए हैं। सीबीआई के तर्क को भोपाल कोर्ट ने नामंजूर किया और कोर्ट के आदेश पर अब सीबीआई इस केस की दोबारा जांच कर रही है।


"To get the latest news update download the app"