कांग्रेस नेता के भाई की गुंडागर्दी, बंदूक की नोंक पर व्यापारी को किडनैप कर पीटा, चलती कार से फेंका

इंदौर।

मध्यप्रदेश के इंदौर शहर में कांग्रेस नेता के भाई द्वारा एक व्यापारी को सरेआम पीटने का मामला सामने आया है। यहां कांग्रेस नेता गोलू अग्निहोत्री के भाई रानू और उसके 10 से ज्यादा गुर्गों ने पहले ऑफिस में तोड़फोड़ की और व्यापारी को पीट दिया। इतने पर भी रानू रुका नही और फिर उसे अगवा कर कार में पिस्टल अड़ाकर तीन घंटे तक घुमाता रहा। इसके बाद देर रात अग्रसेन चौराहे पर छोड़ भाग गया। गंभी हालत में व्यापारी को एमवाय अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां उसके सिर में टांके आए हैं। पुलिस ने मामले में जांच शुरू कर दी है। फरियादी व्यापारी ने पुलिस को बयान दिए हैं।

जानकारी के अनुसार, शहर के अग्रवाल नगर में रहने वाले कमोडिटी व्यापारी भरत पिता कल्याणचंद सिंघल का ऑफिस छावनी मे है। कांग्रेस नेता गोलू अग्निहोत्री का भाई रानू अग्निहोत्री भी कमोडिटी का कच्चा काम करता है। किसी अन्य के जरिए दोनों के बीच एक डील हुई जिसमें  एक लाख का घाटा हुआ। इसमें से भरत ने 50 हजार रुपए दे दिए थे और 50 हजार देने बाकी थे। इसी के चलते रानू अग्निहोत्री, विनोद जायसवार अपने 20 से 25 साथियों के साथ गुरुवार रात को छावनी स्थित कलंगी कैनवास ऑफिस पर पहुंचे और तोड़फोड़ शुरु कर दी। इसके बाद जैसे ही भरत ने उन्हें रोकना चाहा उन्होंने उसे पकड़कर पीट दिया और सिर फोड़ दिया ।


इतने पर भी मामला शांत नही हुआ और रानू और उसके अन्य दोस्तों ने भरत का मोबाइल छीन बंद कर दिया और अपहरण दो से तीन घंटे तक शहरभर में घुमाते रहे , इस दौरान उन्होंने उसकी कनपटी पर पिस्टल रख दी और पीटते रहे। साथ ही धमकी दी कि पुलिस से शिकायत की तो जान से मार देंगे।इसके बाद आधी रात के बाद अग्रसेन चौराहे के पास फेंककर चले गए।जैसे तैसे भरत लोगों की मदद से एमवाय अस्पताल पहुंचा और इलाज करवाया।

देर रात पुलिस ने कोई मामला दर्ज नही किया लेकिन शुक्रवार सुबह जब मामले ने तूल पकड़ा तो एसपी ने खुद थाने पहुंचकर एफआईआर दर्ज करवाने के निर्देश दिए। संयोगितागंज पुलिस ने रानू अग्निहोत्री, विनोद जायसवाल निवासी भोलाराम उस्ताद मार्ग और उनके 8-10 बदमाशों के खिलाफ अपहरण, हत्या के प्रयास और बलवे सहित कई धाराओं में केस दर्ज किया है। रानू फरार है।

बता दे कि रानू कांग्रेस के रसूखदान नेता गोलू अग्निहोत्री का भाई है। गोलू की पत्नी को कांग्रेस ने विधानसभा एक से प्रत्याशी बनाया था बाद में टिकट काटकर संजय शुक्ला को दिया गया। वहीं गोलू अग्निहोत्री से इस संबंध में बात की तो बोले मुझे जानकारी नहीं है, मैं नागपुर में हूं। इधर पुलिस पर मामला दबाने के आरोप लग रहे है।


"To get the latest news update download the app"