Exit Poll Impact: नतीजों से पहले शेयर मार्केट मे आई भारी गिरावट, 600 अंक टूटा सेंसेक्स

नई दिल्ली।

पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव से पहले शेयर मार्केट में भारी गिरावट सामने आई है। सेंसेक्स 600 प्वाइंट से ज्यादा और निफ्टी करीब 200 प्वाइंट गिर गया। दोनों में ही करीब 2 फीसदी की गिरावट आ गई। वही डकैप और स्माॉलकैप इंडेक्स में भी बड़ी गिरावट देखी गई। बाजार के जानकारों के मुताबिक इसके पीछे एग्जिट पोल के नतीजों का असर है। वहीं ग्लोबल मार्केट में गिरावट का असर भी आया है। इसके अलावा आज रुपया भी 50 पैसे गिरकर खुला। डॉलर के मुकाबले रुपया 71.31 पर पहुंच गया।

दरअसल, सप्ताह के पहले कारोबारी दिन सोमवार को शेयर बाजार का सेंसेक्स करीब 468 अंक की बड़ी गिरावट के साथ खुला और कुछ ही देर बार यह और नीचे आ गया। कारोबारी सत्र के दौरान करीब 30 शेयर वाला सेंसेक्स 10.40 बजे 601.29 अंक गिरकर 35,071 के स्तर पर कारोबार करते देखा गया। लगभग इसी समय 50 अंकों वाला निफ्टी करीब 184.2 अंक गिरकर 10,509.50 के स्तर पर देखा गया।  वही डकैप और स्माॉलकैप इंडेक्स में भी बड़ी गिरावट देखी गई। निफ्टी बैंक में 400 प्वाइंट की गिरावट आ गई। बाजार को अब मंगलवार के दिन आने वाले नतीजों का इंतजार है। दूसरी तरफ ओपेक के प्रोडक्शन घटाने के फैसले के कारण क्रूड में भी तेजी आ गई। सेंसेक्स 623 प्वाइंट की गिरावट के साथ 35,050 पर पहुंच गया वहीं निफ्टी 195 प्वाइंट की गिरावट के साथ 10,948 पर पहुंच गया। मिडकैप और स्मालकैप इंडेक्स में भी 1 फीसदी की गिरावट आ गई। क्रूड के भाव चढ़ने से रुपए में गिरावट आई। बाजार में गिरावट का एक और कारण है विदेशी निवेशकों की बिकवाली भी है। विदेशी निवेशकों ने पिछले 5 ट्रेडिंग सेशन में 400 करोड़ रुपए की बिकवाली कर दी। इस कारण भी बाजार में गिरावट आई।

बता दे कि मंगलवार सुबह वोटों की गिनती शुरू होगी और शाम तक परिणाम घोषित हो जाएंगे। छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, मिजोरम, राजस्थान और तेलंगाना में किसकी सरकार बनेगी। यह स्थिति मंगलवार को शाम तक पूरी तरह स्पष्ट हो जाएगी। शुक्रवार को आए एग्जिट पोल में दिखाया गया कि राजस्थान में बीजेपी के हाथ से सत्ता फिसल सकती है और मध्यप्रदेश व छत्तीसगढ़ में भी कांग्रेस से उसका करीबी मुकाबला है। इन्हें 2019 लोकसभा चुनाव से पहले सेमीफाइनल माना जा रहा है। 


एक्जिट पोल के आंकडों पर एक नजर

आज तक के मुताबिक, मध्यप्रदेश में भाजपा और कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर है। इस एजेंसी के मुताबिक, मध्यप्रदेश में भाजपा को 102 से 120 सीटें मिलती नजर आ रही हैं। कांग्रेस के खाते में 102 से 122 सीटें जाती दिख रही हैं। अन्य के खाते में 4 से 11 सीटें जा सकती हैं। 

एबीपी और सीएसडीएस के एग्जिट पोल के मुताबिक मध्य प्रदेश के चंबल की 34 सीटों में से 36 प्रतिशत भाजपा के खाते में गईं, कांग्रेस को 43 प्रतिशत सीट मिल रही हैं। भाजपा को यहां 10 सीटें मिल सकती है, काग्रेस को 21 सीटें मिल सकती है और अन्य को तीन सीट मिल सकती हैं। एबीपी के अनुसार विध्य की 56 सीटों में से भाजपा को 20 सीट, कांग्रेस को 33 सीट और अन्य को 3 सीट मिल सकती हैं।

इंडिया टुडे- एक्सिस माय इंडिया के सर्वे के अनुसार मप्र में कांग्रेस को 41 प्रतिशत और भाजपा को 40 प्रतिशत सीट मिलने की संभावना है। कांग्रेस को 104 से 122 सीट तो भाजपा को 102 से 120 मिल सकती हैं।

"To get the latest news update download tha app"