निगम कमिश्नर की चरणवंदना पर मंत्री का किनारा, बोले-जिसने छुए उससे पूछे

इंदौर।आकाश धौलपुरे।

देवास कमिश्नर द्वारा मंत्री सज्जन सिंह वर्मा के पैर छूने की बात पर मचे बवाल पर मंत्री जयवर्धन सिंह ने कहा ऐसा क्यों हुआ मुझे पता नही है। वही जो व्यक्ति पैर छूता है उसकी क्या आस्था ये उसी से पूछा जाए। वही उनसे जबप पूछा गया कि आर्थिक रूप से सम्पन्न लोग संभल योजना का लाभ उठा रहे है तो उन्होंने कहा कि ये बड़ा और गम्भीर मुद्दा है क्योंकि जो लोग आयकर चुका रहे और जिसके पास बड़ा पक्का मकान है और पर्याप्त तौर पर सम्पत्ति है अगर उनको भी संभल में जोड़ा जा रहा है। ऐसे में जल्द ही बड़ा खुलासा इस मुद्दे पर होगा।   


दरअसल, इंदौर पहुंचे मध्यप्रदेश के नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह आज अलग अलग कार्यक्रमो में शामिल होंगे।इसके पहले उन्होंने इंदौर रेजीडेंसी में मीडिया से बातचीत की और विकास के लिए सरकार द्वारा उठाये जा रहे कदमो की सराहना की।वही उन्होंने शहर को दो अलग - अलग निगम सीमा में बांटे जाने के सवाल पर मंत्री जयवर्धन सिंह ने कहा कि उन्होंने कहा अब तक इंदौर से ऐसी कोई मांग नही आई है फिलहाल भोपाल और जबलपुर से उठी मांग को ध्यान में रखते हुए काम किया जाएगा। वही निगम चुनाव प्रणाली को एक  प्रक्रिया बताते हुए उन्होंने निगम कमिश्नर आशीष सिंह  का बचाव करते हुए कहा कि वो अच्छा काम कर रहे है।


उन्होंने कहा कांग्रेस की सरकार बनी तो सबसे पहले प्राथमिकता थी किसानों की कर्जमाफी थी जिसके चलते पहले चरण में हमने एनपीए खातों में 50 हजार की राशि देकर कर्जमाफी की इसके बाद जहां जहां बाढ़ सहित अन्य समस्याएं थी वहां वहां 2 लाख रुपए का राशि का भुगतान चालू हो गया है। वही अब मुख्यमंत्री ने कहा कि 31 मार्च 2020 तक जो आरआरबी और सहकारी बैंक बैंक के खाते है उनसे 2 लाख का कर्ज माफ हो जाएगा। वही इस बार जो भारी बारिश की वजह से सड़क और फसलों का नुकसान हुआ है अब वो हमारी प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के स्थापना दिवस पर सभी मंत्रियों ने अलग अलग जिलो में प्रेस कांफ्रेंस कर बताया था कि केंद्र से जो मदद हमे मिलनी थी वो अभी मिली नही है और उम्मीद करता हूँ कि केंद्र सरकार जल्द ही राशि देगी लेकिन यदि कोई भेदभाव होता है तो दुःख की बात है।  मंत्री जयवर्धन सिंह ने बताया कि स्वच्छ सर्वेक्षण और स्वछ भारत लिए जितनी राशि कोई भी निकाय मांगेगा उसके लिए हमारे पास पर्याप्त राशि है। वही इंदौर महापौर द्वारा राशि को लेकर उठाये गए सवाल पर उन्होंने हम क्यों गलत करेंगे हमारा काम जनता की सेवा करना है।

 हालांकि मंत्री ने ये भी साफ किया कि वर्तमान में इंदौर ना प्रदेश का बल्कि देश का एक बेहतर शहर है और इसके विकास में कोताही नही बरती जाएगी साथ ही उन्होंने कहा कि निगम की मदो से आय के बाद इंदौर को कुछ राशि कम दी गई है और आने वाले समय बची हुई राशि की पूर्ति भी की जाएगी। वही उन्होंने इंदौर के बहुप्रतीक्षित मेट्रो प्रोजेक्ट को लेकर कहा कि 14 नवम्बर को 2 अलग अलग कॉन्ट्रैक्ट कंपनियों से भोपाल में बैठक की जाएगी और प्रदेश में मेट्रो को लेकर एक बड़ा प्रोजेक्ट है जिसे लेकर सरकार संजीदा है। वही बेरोजगारी के मुद्दे पर मंत्री जयवर्धन सिंह ने देश मे बेरोजगारी बढ़ रही है लेकिन उसकी तुलना में मध्यप्रदेश में बेरोजगारी डर कम है और सीएम कमलनाथ की इन्वेस्टर समिट की तारीफ कर उन्होंने कहा इन्वेस्टर का विश्वास सीएम कमलनाथ पर है।


"To get the latest news update download the app"